Report: प्रह्लाद गुप्ता
बनारस।  दक्षिणी विधानसभा में अपने आपको दावेदार बताने वाले बसपा प्रत्याशी राकेश त्रिपाठी ने अपने पैसे की ताकत से हर समय जनता को लालच देने का काम किया है। यही नहीं बनारस के सड़को पर बैनर पोस्टर के जरिये प्रचार प्रशार कर बनारस में एक नयी मिशाल कायम की थी मगर अब आलम यह है कि  वाराणसी में दक्षिणी विधानसभा के बसपा प्रत्याशी राकेश त्रिपाठी द्वारा पोस्टर व स्टिकर के जरिये अब गलियों में घुस कर आचार संहिता उलंघन करते नजर आ रहे है।

यह कहा जाता है की गलियो का शहर बनारस है। यहाँ दक्षिणी विधानसभा बनारस के पक्के मोहाल वाले गलियों से गंगा किनारे घाट पर बसे लोगो  व व्यापारियों से ही चुनाव की जीत हार का फैसला  होता है।   दक्षिणी विधानसभा के बसपा प्रत्याशी  ने आचार संहिता के पहले पुरे बनारस में करोडो रूपये खर्च करके बैनर पोस्टर विज्ञापन के जरिये जनता को लुभाने में लगे थे मगर जब चुनाव आयोग द्वारा जब शिकंजा कसा गया तो आचार संहिता लागू की गयी तब इनका पैसा बनारस की गलियो में दिखाई पड़ रहा है।

 

यह ताजा मामला वाराणसी के गायघाट के गलियों से जाने पर आपको नजर आएगा की यह इनकी तस्वीर नयी है या पुरानी और साथ में कई घरो के बाहर बसपा का झंडा भी नजर आ रहा है । अगर यह आचार संहिता लागू होने के पहले की यह प्रचार प्रसार वाले झंडा बैनर पोस्टर है तो इसमें प्रशासन की सबसे बड़ी लापरवाही मानी जाए या दक्षिणी विधानसभा बसपा प्रत्याशी राकेश त्रिपाठी की आचार संहिता का उलंघन माना जाए।
Comments