बनारस। उत्तर प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने शासन की मंशा के अनुरूप जन सामान्य को प्राथमिकता पर बेहतर से बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराये जाने का निर्देश देते हुए कहॉ कि यदि सरकारी चिकित्सक मरीजों को बाहर से दवा खरीदने हेतु पर्ची लिखेगें, तो उनके विरूद्व कड़ी कार्यवाही अवश्य किया जायेगा। मंत्री सोमवार को डॉ शिवप्रसाद गुप्त मंडलीय चिकत्सालय के औचक निरिक्षण पर थे। साथ ही  उन्होंने जल्द से जल्द मंडलीय चिकित्सालय में 10 डायलिसिस मशीन लगवाने की बात भी कही।

बाहर की लिखी जांच या दवा तो होगी कार्रवाई
दवा वितरण काउन्टर पर जॉच के दौरान पीलीकोठी निवासी अंबार एवं एक महिला द्वारा बाजार से दवा खरीदने तथा जलालीपुरा निवासी भैयालाल द्वारा ब्लड एवं अल्ट्रासाउण्ड जॉच निजी पैथालॉजी के छपे पर्ची पर डाक्टर द्वारा लिखा हुआ दिखाये जाने को गम्भीरता से लेते हुए मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी मौके पर मौजूद मुख्य चिकित्सा अधीक्षक पर बरस पड़े और अस्पताल में ब्लड एवं अल्ट्रासाउण्ड जॉच की व्यवस्था होने के बावजूद बाहर से जॉच कराने एवं दवा खरीदने हेतु पर्ची लिखने वाले चिकित्सकको कड़ी हिदायत देने तथा भविष्य में बाहर से दवा लिखने वाले चिकित्सको के विरूद्व कड़ी कार्यवाही किये जाने का भी हिदायत दिया।

डायलिसिस की 10 यूनिट जल्द ही
श्री शिवप्रसाद गुप्त मण्डलीय चिकित्सालय के डायलिसिस यूनिट में एक भी डायलिसिस मशीन न होने पर आश्चर्य जताते हुए कहॉ कि बीएचयू में 12 और पंडित दीनदयाल राजकीय चिकित्सालय में 9 डायलिसिस मशीन संचालित है, जबकि पूर्वाचल के इस बड़े एवं पुराने चिकित्सालय में एक भी डायलिसिस मशीन न होना चिन्ता का विषय है। उन्होने मौके पर मौजूद मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को 10 मशीन लगाये जाने हेतु कार्ययोजना बनाकर शासन को भेजने का निर्देश देते हुए कहा कि वे शासन से इसकी व्यवस्था सुनिश्चित करायेगें। उन्होने एक डायलिसिस मशीन 10 जुलाई तक क्रय कर क्रियाशील कराये जाने का भी निर्देश दिया।

हेल्थ पोर्टल को करें सुचारू
राज्य मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी सोमवार को अचानक श्री शिवप्रसाद गुप्त मण्डलीय चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। चिकित्सालय के अधिकारियों को बिना बताये उन्हे अचानक अस्पताल पहूॅचते ही डाक्टरो एवं चिकित्सा कर्मियों में खलबली मच गया। वे इधर-उधर भागने लगे। अस्पताल के निरीक्षण के दौरान आकस्मिक कक्ष में एक सप्ताह पूर्व लगे नेशनल हेल्थ पोटर्ल के संबंध में जानकारी के दौरान उन्होने पोर्टल पर किसी कम्प्यूटर फ्रेडली को नामित करने का निर्देश दिया। ताकि पोटर्ल के माध्यम से रोगो एवं स्वास्थ्य संबंधी अन्य जानकारी आम जनमानस आसानी से प्राप्त कर सके।

नगर निगम के निष्क्रिय चिकित्सालय दुबारा होंगे शुरू
उन्होने बेनियाबाग एवं अलईपुर स्थित नगर निगम के निष्क्रिय चिकित्सालयों को सुव्यवस्थित तरीके से संचालित कराये जाने हेतु मुख्य चिकित्सा अधिकारी को
कार्ययोजना बनाने का निर्देश दिया। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहॉ कि जनसामान्य को बेहत्तर से बेहत्तर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराया जाना शासन की प्राथमिकता है। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नही किया जायेगा। निरीक्षण के दौरान चिकित्सालय परिसर के टूटी सड़क, जर्जर मेनहोल एवं सड़क पर बहते हुए सीवर का पानी सहित गंदगी देख नाराजगी जताते हुए उन्होने शीघ्र इसे ठीक कराये जाने का भी निर्देश दिया।

निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ बी बी सिंह, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक सहित मंत्री के प्रतिनिधि आलोक श्रीवास्तव प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Comments