बनारस। बीती रात जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में हुए आतंकवादी हमले में अमरनाथ यात्रा पर गये 7 श्रद्धालू आतंकवादियों की गोली का शिकार हो गये। आतंकवादियों के इस हमले के बाद पूरे देश में सावन को देखते हुए हाई अलर्ट पर कर दिया गया है। ऐसे में आतंकवाद का दंश झेल चुकी शिव की नगरी काशी में भी हाई अलर्ट घोषित है। हाई अलर्ट के बाद टीम Livevns ने काशी के कोतवाल बाबा काल भैरव मंदिर जो की शहर की संकरी गली में स्थित है कि सुरक्षा का जायजा लिया। मंदिर में हमें भीड़ तो मिली पर सुरक्षा कर्मी एक भी नहीं, मंदिर के महंत ने कहा की रविवार को रहती है सुरक्षा आम दिनों में नहीं साथ ही साथ सीसीटीवी कैमरे भी बंद मिले। पेश है एक ख़ास रिपोर्ट।

श्रद्धालू सुरक्षा के प्रति परेशान 
काशी के कोतवाल यानी बाबा काल भैरव जिनके लिए कहा गया है कि ये पूरी काशी की रक्षा करते हैं और ये उसके कोतवाल हैं लेकिन देश में आतंकी अलर्ट के बाद काशी के कोतवाल बाबा काल भैरव मंदिर में सुरक्षा का कोई इंतज़ाम नहीं दिखता। मंदिर के मुख्य द्वार पर न कोई मेटल डिटेक्टर है और नाही कोई सुरक्षाकर्मी हैं। श्रद्धालू रोज़ की तरह बाबा काल भैरव के दर्शन करते दिखे पर अपनी सुरक्षा के प्रति परेशान भी दिखे।


नहीं है काशी के कोतवाल के पास सिपाही
बनारस के रहने वाले अतुल ने बताया कि जमू में कल रात में हमला हुआ है। जिसके बाद सब जगह सुरक्षा के हाई अलर्ट हैं पर काशी के कोतवाल के यहां कोई सिपाही भी नहीं है। जो हमारी तलाशी ऐसे ही क्यों न ले। यहां सीसीटीवी लगा हुआ है पर वह चल भी रहा है या नहीं पता नहीं। यहां रविवार को भक्तों का जमावड़ा लगता है उस दिन भी बस नाम के सुरक्षा कर्मी यहां होते हैं।

पुख्ता हैं यहां की सुरक्षा
हमने इस सम्बन्ध में मंदिर के महंत सदनलाल दूबे से बात की तो उन्होंने कहा कि हमारे यहां रविवार को भीड़ ज्यदा रहती है तो सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सिपाही लगते हैं नहीं तो हमारा गार्ड नागेश्वर ही यहां की सुरक्षा संभालता है। वही उनसे जब सीसीटीवी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सीसीटीवी सही है हमारा जब हमने बाते की खराब है तो उन्होंने गार्ड नागेश्वर को आवाज़ देकर पूछा और उसके बाद कहा की किसी वजह से आज ही बंद हो गया है कल चल रहा था।


महंत ने काफी अजीब लहजे में सुरक्षा व्यवस्था पर हमसे बात की , लेकिन काशी के कोतवाल के पास कोई भी सुरक्षा के इंतज़ाम नहीं दिखे।

 

Comments