बनारस। भाई बहन का रिश्ता संसार में सबसे मज़बूत मना जाता है लेकिन कलयूग में बनारस की एक बहन ने अपने अवैध संबंधों को छुपाने के लिए अपने भाई की सर कूंच कर ह्त्या कर दी। इस बात का खुलासा तब हुआ जब शहर की रोहनिया थाने की पुलिस ने आपस में जीजा साली का सम्बन्ध रखने वाले युवक युवती को 26 जून को रोहनिया थाना क्षेत्र में हुई युवक की सर कूंच के ह्त्या के मामले में गिरफ्तार किया। ये दोनों आपस में जीजा साली हैं और इनका अवैध सम्बन्ध लड़की के भाई को पता चल गया था। पुलिस ने दोनों को सम्बंधित धाराओं में जेल भेज दिया है।

26 जून को मिली थी सर कूची लाश
घटना का सफल अनावरण करते हुए एसपी ग्रामीण अमित कुमार ने बताया कि बीती 26 जून को रोहनिया थाना क्षेत्र के अखरी ग्राम प्रधान ने सूचना दी थी की अमरा खैरा चक ( वैष्णो विहार कालोनी ) में खेल के मैदान के बगल में बने कमरे में एक सर कूची लाश पड़ी है। जिसकी सूचना पर पहुंची पुलिस ने शिनाख्त की कोशिश की पर उस समय शिनाख्त नहीं हुई। 29 जून को मृतक की शिनाख्त सुजीत कुमार निवासी मड़ौली थाना मंडुआडीह के रूप उसके पिता ने की।

पिता ने लिखाई थी ह्त्या की नामज़द रिपोर्ट
एसपी ग्रामीण ने बताया कि सुजीत कुमार के पिता दिनेश राम ने इलाके के संतोष उर्फा दरोगा, राहुल तथा चन्दन के खिलाफ ह्त्या का शक जताते हुए नामज़द रिपोर्ट दर्ज कराई गयी थी। जिसके बाद पुलिस ने इन सभी पर निगरानी रखनी शुरू की पर जांच में इन सभी को इस घटना में संलिप्त होना नहीं पाया गया।

अवैध संबंधों में रोड़ा अटकाना बना ह्त्या का सबब
पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने बताया कि रोहनिया प्रभारी निरीक्षक क्षितिज त्रिपाठी को बज़रिये मुखबीर पता चला कि घटना में शामिल अभियुक्त संजय कुमार हरिजन निवासी खुशीपुर, रोहनिया और उसकी साली संगीता निवासी मंडौली, मंडुआडीह कही जाने की फिराक में sms कालेज ऑफ़ मैनेजमेंट के पास खड़ें है। जिसपर वहां पहुंचकर दोनों को गिरफ्तार किया गया। जिसमे इन्होने अपने अविध संबंधों का सुजीत को पता चलने की वजह से ह्त्या करने की बात बताई।

सुजीत को नहीं पसंद था जीजा साली का अवैध सम्बन्ध
अपने साले की ह्त्या करने वाले संजय ने बताया कि सुजीत को मेरे और संगीता के अवैध प्रेम संबंधों के बारे में पता चल गया था और वह बार बार संगीता को मुझसे दूर जाने के लिए कहता था। ऐसा न करने पर वह संगीता की शिकायत अपने पिता से कर देगा। जिसपर मैंने और संगीता ने सुजीत को रस्ते से हटाने का फैसला कर लिया। उस दिन मई और संगीता अपने अपने काम पर निकल गये। मई अपने साथ सुजीत को भी लेकर चल दिया। इस तरह से सुजीत मेरे साथ आया की किसी को पता नहीं चला। फिर हम दोनों ने एक दूकान से बियर ली और उस कमरे पर पहुंच गये। जिसके बाहर झाड़ियों में पहले से संगीता मौजूद थी। जब सुजीत नशे में चूर हो गया तो संगीता झाड़ियों में से निकलकर कमरे में आगयी फिर हमें ईटों से सर कूचकर सुजीत की ह्त्या कर दी।

फिलहाल पुलिस ने दोनों अभियुक्तों को धारा 302 और 201 में जेल भेज दिया है।
Comments