बनारस। बेनियाबाग के सभासद विक्की खां की ह्त्या के लिए पैसा इकठ्ठा करने के लिए कई अपराधी गतिविधियों को अंजाम देने वाले 5 हज़ार के इनामिया बदमाश को बुधवार को वाराणसी पुलिस और क्राइम ब्रांच ने संयुक्त रूप से मिलकर गिरफ्तार कर लिया।  पकडे गए बदमाश का भाई अभी भी विक्की खां पर जानलेवा है हमला करने के जुर्म में सलाखों के पीछे है।  जनपद वाराणसी में चोरी/लूट की घटनाओं की रोकथाम हेतु तथा वांछित, पुरस्कार घोषित अपराधियों की गिरफ्तारी एवं अनवर्क आउट घटनाओं के अनावरण हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी द्वारा क्राइम ब्रान्च वाराणसी व जनपदीय पुलिस को  निर्देशित किया गया था। इसी क्रम में यह कार्रवाई की गयी। वही बदमाशों से हुई हल्की मुठभेड़ में दो बदमाश अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहे। 
इस सम्बन्ध में पुलिस लाइन सभागार में मीडिया के सामने बदमाश को पेश करते हुए एसपी क्राइम ज्ञाननेद्र कुमार ने बताया कि मुखबिर के द्वारा उप निरीक्षक ओमनारायन सिंह प्रभारी इन्टेलिजेन्स विंग को सूचना प्राप्त हुई कि एक पुरस्कार घोषित अपराधी चोरी की बोलेरो सहित अपने साथियों के साथ लोहता के तरफ से गाडी की खरीद फरोख्त के लिए शिवपुर आने वाला है।  सूचना के सम्बन्ध में थानाध्यक्ष शिवपुर शिवानन्द मिश्र को अवगत कराते हुए पिसौर पुल से 50 मीटर पहले रात में लोहता की तरफ से एक बोलेरो पिसौर पुल क्रास करते हुए आयी। पुलिस टीम द्वारा उसे रूकने का इशारा करने पर बोलेरो सवार बदमाशों द्वारा पुलिस पार्टी पर गाड़ी तेजी से बढ़ाते हुए चालक के बगल बैठे बदमाश द्वारा लक्ष्य करके जान मारने की नियत से फायर किया गया, इसी दौरान तेज रफ्तार अनियंत्रित बोलेरो लोहे के एन्गिल मे टकराकर रूक गयी। 
पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए भाग रहे एक बदमाश अमन मालिक निवासी हक्काक टोला थाना चौक को गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान अंध्रेरे का फायदा उठाकर अफ़ज़ल निवासी घौसाबाद थाना कैंट और शम्भू केशरी निवासी गोला दीनानाथ थाना कोतवाली फरार हो गए।  पकडे गए बदमाश के पास से एक 32 बोर की पिस्टल, 4 कारतूस, एक चोरी की बोलेरो गाडी सहित कई घटनाओ में इस्तेमाल किये गए तीन मोबाइल फोन बरामद किये गए हैं। 
विक्की खां सभासद की ह्त्या की रच रहा था साजिश 
एसपी क्राइम ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि पूर्व में अमन मालिक और उसका भाई सलमान मालिक बेनियाबाग इलाके के सभासद विक्की खां पर जानलेवा हमला करने के मामले में जेल गए थे।  अमन छूट गया था पर सलमान अभी भी जेल में बंद है।  अमन ने पूछताछ में बताया कि वर्ष 2016 में सभासद विक्की खान पर हम दोनों भाईयों ने अपने अन्य साथियों से मिलकर चेतगंज थाना क्षेत्र में जानलेवा हमला किया था, जिसमें सभासद तथा उसके एक अन्य साथी बुरी तरह घायल हुए थे। उस रंजिश में पुनः विक्की खान सभासद की हत्या के लिये अपने साथियों के साथ लुक छुपकर शहर तथा आस-पास के क्षेत्रों में अपराधकारित कर पैसों की व्यवस्था में लगा था ताकि जेल में बन्द मेरा भाई रिहा हो सके व अच्छे असलहे खरीदे जा सके, जिससे घटना को अन्जाम दिया जा सके।
Comments