बनारस। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय अब छात्राओं के लिए सुरक्षित नहीं है। बीएचयू में अभी छात्राओं संग छेड़खानी का मामला पूरी तरह शांत भी नहीं हुआ था की एक बार फिर काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में छात्रा संग छेड़खानी और मारपीट की वारदात सामने आ गयी। बात का खुलासा तब हुआ जब एम् ए की स्टूडेंट ने प्राक्टोरियल बोर्ड से शिकायत की और प्रक्टोरियल बोर्ड छात्रा को लेकर लंका थाने पहुंच गया। पुलिस ने तत्परता दिखते हुए उक्त छात्र को पकड़ लिया जिसका कहना है कि मेरे और लड़की के बीच में तीन साल से रिलेशन है।

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में महिला सुरक्षा के तमाम दावे खोखले साबित हुए। विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र विभाग की छात्रा के साथ कैम्पस में फिर छेड़खानी और मारपीट की वारदात हुई। सरे राह विश्वविद्यालय के कैम्पस में पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन के छात्र ने समाजशास्त्र की एमए द्वितीय वर्ष की छात्रा के साथ मारपीट और छेड़खानी की। छात्रा को कैम्पस में बीच सड़क पिटा और छात्रा का मोबाइल फोन भी तोड़ दिया। घटना से आहात छात्रा ने इसकी शिकायत विश्वविद्यालय के प्रॉक्टोरियल बोर्ड के अधिकारियो से की जिसके बाद आनन् फानन में प्रॉक्टोरियल बोर्ड के लोगो ने छात्रा को लेकर लंका थाने पहुंच गए और मामले में एफआईआर दर्ज कराई।

उधर पुलिस ने भी मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपी छात्र को पकड़ कर थाने ले आयी। पीड़ित छात्रा शादीशुदा है। फिलहाल इस पुरे मामले पर पीड़ित लड़की और उसके परिजन कुछ भी बोलने से बच रहे है लेकिन आरोपी छात्र ने अपने बचाव में ये जरूर कहा है की उसका रिश्ता पीड़ित लकड़ी के साथ पुराना है। जो भी हो लेकिन जिस तरह BHU कैम्पस में एक बार फिर छेड़खानी हुई इससे एक बात तो साफ़ है की अब विश्वविद्यालय कैम्पस महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है|

Comments