बनारस। पंडित दीनदयाल स्मृति में गरीब कल्याण वर्ष के अंर्तगत वस्त्र मंत्रालय द्वारा हस्तकला सहायता शिविर का आयोजन वाराणसी के काशी विद्यापीठ ब्लाक के मंगलपुर गाव में किया गया जिसमे बड़ी संख्या में बुनकर भाइयो ने भाग लिया।  इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि शांतमनु विकास आयुक्त (हथकरघा व हस्तशिल्प ) भारत सरकार द्वारा बुनकरों को बुनकर कार्ड ,प्रशिक्षण सर्टिफिकेट ,रेशम पासबुक सहित 5 बुनकरों को मुद्रा योजना का सर्टिफिकेट दिया।

इस शिविर में बुनकरों के जहां बुनकर कार्ड बनाये गए वही रेशम पासबुक का फार्म भी भरा जा रहा था। इसके साथ ही बुनकरों को मुद्रा योजना की जानकारी के साथ ही बुनकरों के लिए भारत व राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही सभी योजनाओ की जानकारी दी गयी और उनकी समस्याओ का समाधान किया गया।

इस अवसर पर बात करते हुए विकास आयुक्त शांतमनु ने कहा की इस तरह के शिविरों की ग्रामीण अंचलों में बहुत ज़रुरत है। ऐसे शिविर केंद्र सरकार द्वारा देश के 372 ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजित किया जा रहा है। इस शिविर  के माध्यम से केंद्र व राज्य सरकार की सारी योजनाओ को एक ही जगह इकठ्ठा करके बुनकरों दी जा रही है और उनके बारे में बताया जा रहा है। हम इस शिविर में आने वाले लोगो से सुझाव भी ले रहे है की कैसे इन सुविधाओं को और बेहतर करे सके।

मंगलपुर के शिविर में सैंकड़ों बुनकर जानकारी लेने के लिए उमड़े थे।  इन्ही में से एक कोटवा के बुनकर मौलाना अनवर ने बताया की इस शिविर में हमें बुनकर कार्ड दिया जा रहा है।  जिससे हमें राज्य व केंद्र सरकार की योजनाओ का लाभ मिलेगा और इससे क्या क्या फायदे  इसके बारे में हमें पता चला है।  जिसका हम भविष्य में फायदा उठा सकते हैं।  हम सरकार की उन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में पता चला जो सिर्फ हमारे लिए पर आज तक हम उससे वंचित थे पर अब नहीं रहेंगे।

Comments