बनारस। समाजवादी पार्टी के सिम्बल से भाजपा प्रत्याशी को हराकर जिला पंचायत अध्यक्ष बनी अपराजिता सोनकर के नगर निगम चुनाव के पहले सपा से किनारा करते हुए भाजपा का दामन थामाने से वाराणसी की सियासत में भूचाल मचा हुआ है।

जहां समजवादी पार्टी इस नुक्सान को भरने की जुगत लगा रही है वहीं कांग्रेस ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस कर समाजवादी पार्टी के जिला पंचायत अध्यक्ष के इस कृत्य को मौकापरस्ती और बेशर्मी की संज्ञा देते हुए समजवादी पार्टी के नगर निगम अध्यक्ष पद की दावेदारी को खोखला बताते हुए कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में जनता से वोट करने की अपील की। इस मौके पर मौजूद कांग्रेस के पूर्व सांसद डॉ राजेश मिश्रा ने भाजपा के 22 सालों की नाकामियों को गिनाया |

पिंडरा विधानसभा से कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय के घर पर हुई इस प्रेस वार्ता में अजय राय ने कहा कि वाराणसी की समाजवादी पार्टी जब जिला पंचायत अध्यक्ष अपराजिता सोनकर को सहेज और संभाल न सकी तो महापौर पद पर उसकी दावेदारी निरर्थक है।

हाल ही में जब अपराजिता सोनकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की बात चली तो कांग्रेस ने अपराजिता की कुर्सी और सम्मान बचाने में समाजवादी पार्टी का पूरा साथ दिया समाजवादी पार्टी के बाप और बेटे के झगडे और चचा भतीजे का झगडा अब नेताओं पर भी भारी पड़ रहा है | शायद यही वजह रही अपराजिता के दल छोड़ के जाने की |

इस मौके पर कांग्रेस के पूर्व सांसद और प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ राजेश मिश्रा ने कहा कि  संघर्ष की हिम्मत और वैचारिक निष्ठा के संस्कार की कमी से ऐसे स्वार्थी राजनितिक विश्वासघात होते हैं, जो अपराजिता ने भाजपा के हाथों पराजिता बनकर सपा को दिया है।

उन्होंने भाजपा के कार्यकाल के बारे में कहा कि बनारस की हकीकत है जिससे बनारस की जनता पिछले 22 सालों और प्रधानमंत्री के यहां से सांसद बन्ने के बाद 5 साल से है उससे सब वाकिफ है ।  इस 22 साल में काशी की जो दशा है वह सोचने लायक है।

उन्होंने कहा कि वाराणसी जीवित शहरों में से एक है और भाजपा इस जीवित शहर में पिछले 22 सालों से काबिज़ है पर शहर की स्थिति क्या है सभी जानता है, इसलिए भाजपा का वोट मांगने ही नहीं बल्कि चुनाव में खड़े होने का भी हक़ नहीं है। इसका जीता जागता उद्धरण खुद भाजपा के मेयर का चेहरा भजा के प्रचार से गायब होना है। इसका मतलब भाजपा खुद मान रही है कि उसके मेयर ने कोई कार्य नहीं किया है। 

 

इस मौके पर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा भी मौजूद रहे।  सभी ने एकजुट होकर कांग्रेस के वाराणसी मेयर पद प्रत्याशी और रामनर और गंगापुर नगर पंचायत अध्यक्ष प्रत्याशी को जीताने की अपील की। 

 

Comments