बनारस। मदद की आस लिए वाराणसी के सर सुंदरलाल अस्पताल BHU में एक 10 साल की मासूम गरीब बच्ची आलिया परवीन पिछले 15 दिनों से एडमिट है और जल्द ठीक होकर घर जाना चाहती है। मासूम आलिया की मां का रो रो कर बुरा हाल हुआ जा रहा है।

 

दरअसल आलिया के कमर में एक घाव हो गया है जिसके लिए महंगी जांच और महंगी दवाएं लेनी पड़ रही हैं। इतना खर्च उठाने में आलिया का परिवार सक्षम नहीं है। ऐसे में आलिया के परिवार को किसी सरकारी मदद या किसी मददगार की तलाश है ताकि उसके इलाज में होने वाला खर्च मुहैया हो सके

आलिया के शरीर के अंदर है घाव
10 साल की मासूम आलिया को शरीर के अंदरूनी हिस्से में घाव हो गया है। इस समय उसका काशी हिन्दू विश्वविध्यालय के सर सुन्दर लाल चिकित्सालय में इलाज चल रहा है पर उसका आपरेशन डाक्टर कभी भी कर सकतें हैं पर गरीब मां बाप उसके इलाज के लिए पैसे कहां से लाये उन्हें ये समझ नहीं आ रहा है।

 

 

मां से नहीं सहा जाता बेटी का दर्द
मेरी बच्ची को यह घाव कब हुआ हमें नहीं पता चला जब वो दर्द से कराहने लगी तो हमने अस्पताल में दिखाया तो पता चला कि उसे खतरनाक घाव है।  यह कहते कहते आलिया की मां रुखसाना रोने लगी। रुखसाना ने बताया कि डॉक्टर ने कहा है कि अगर जल्द ठीक नहीं होता यह घाव  तो आपरेशन भी करना पड़ सकता है। फिलहाल कबीरचौरा मंडलीय अस्पताल में दिखाने के बाद वहां के डॉक्टर इसे BHU रेफर कर दिया था। यहां  भी इलाज तो मुफ्त हो रहे हैं लेकिन जांच और दवा के खर्च सही से करने में हम असमर्थ हैं।

 

डिपो में बस धुलते हैं आलिया के पिता
दरअसल आलिया के पिता डिपो में धुलाई का काम करते हैं और परिवार किराये पर रहता है। तो जाहिर सी बात है कि इतना खर्च वहन करना आलिया के मां बाप के हाथ में नहीं है। ऐसे में किसी मददगार का सहारा या कोई सरकारी उम्मीद ही बाकि रह गई है।

विधायक से मिला आश्वासन, दुबारा नहीं उठा फोन
इस बाबत जब बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के प्रदेश संयोजिका डॉ रचना अग्रवाल से बात किया गया तो उन्होंने विधायक निधि से मदद मिलने की बात बताई जिसपर आलिया की मां  ने अपने क्षेत्र रोहनिया के भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन वहां 8 -10 बार फोन करने पर भी उनका फोन नंबर – 9415626452 नहीं उठा और नहीं वापस उस नंबर से काल आई।  एक बार उस नम्बर से आश्वासन दिया गया पर दुबारा कोई भी संपर्क नहीं किया गया।

 


आपको बता दें कि रोहनिया विधानसभा मे सुरेन्द्र सिंह ओढ़े बीजेपी से विधायक हैं यही नहीं जिले के सभी आठ विधायक बीजेपी से ही हैं। लेकिन सुरेंद्र सिंह ने सिर्फ फोन पर एक बार ही बात की उसके बाद से समय देते रहे और फोन पर दोबारा नहीं आये। फोन पर ही ‘बेटी बचाओ ,बेटी पढ़ाओ ‘अभियान की सह संयोजक उत्तर प्रदेश डॉ रचना अग्रवाल से बात करने पर उन्होंने बताया कि विधायक निधि में इस तरह का फंड आता है अतः आलिया की आर्थिक मदद जरूर हो जाएगी। इसपर आलिया के मां की आस जगी एक आशा फिर निराशा में तब्दील हो गई जब विधायक जी द्वारा कोई रिस्पांस नहीं मिला।

Comments