बनारस।  निकाय चुनाव को सकुशल संपन्न करवाने के लिए जिला प्रशासन ने पुख्ता इंतज़ाम किये हैं पर ये इंतज़ाम नाकाफी उस समय साबित हुए जब कई वार्डों के पोलिंग बूथों पर व्हील चेयर की कमी से दिव्यान्गों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।  जब वहां मौजूद अधिकारियों से पड़ताल की गयी तो पता चला कि यहाँ व्हील चेयर उपलब्ध नहीं कराई गयी है।


 
शहर के वार्ड नंबर – आठ के वोटर राजू जायसवाल कज्ज़क्पुरा स्थित पंचायती कुआं निवासी है। ये दोनों पैर से दिव्यांग हैं।  उनका मतदान स्थल उनके घर से दूर प्राथमिक विद्यालय कोनिया सट्टी पर था।  राजू जब दोपहर 11 बजे मतदान करने पहुंचे तो यहां व्हील चेयर की व्यवस्था नहीं थी।  जिसकी वजह से उन्हें अपने कटे हुए पैरों का सहारा लेकर मतदान कक्ष तक पहुंचे और उन्होंने मतदान किया।


 
राजू ने बताया कि सरकारें सिर्फ व्यवस्थाओं का वादा करती है लेकिन व्यवस्था ज़मीनी स्तर पर नहीं दिखाई देती है। हम तो अपने पैरों का सहारा लेकर वहां तक चले गये बाकी लोग कैसे जायेंगे जो पैर से एकदम ही बेकार है।  शायद उनका मत कोई और डाले क्योंकि वो यहां नहीं आ सकते।

 
 
जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र ने शनिवार को कहा था कि सभी मतदान स्थलों पर सभी सुविधाएं दी जायेंगी ताकि वोटर को किसी भी तरह की तकलीफ न हो।  उनकी इस बता का सच प्राथमिक विद्यालय कोनिया सट्टी के मतदान स्थल पर दिखाई दिया। 
Comments