बनारस। जो समाज बेटियों को न संभाल न सके और मान न दे सके उस समाज को अपने अस्तित्व पर विचार करना चाहिए। कुछ ऐसे ही चुभते हुए सवाल आगमन संस्था द्वारा आयोजित बेटी पंचायत अभियान के दौरान बेटियों दूतों द्वारा उठायी गयी। वर्षो से भ्रूण ह्त्या के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के सूत्रधार आगमन संस्था द्वारा बेटी संसद के लिए बेटी पंचायत के पांचवीं कड़ी के तहत ग्यारह बेटी दूत के चयन का आयोजन राजकीय बालिका इंटर कालेज से किया गया ।

भ्रूण ह्त्या को प्रभावी ठंग से रोक लगाने के लिए आगमन सामाजिक संस्था ने अपने अभिनव प्रयोग के तहत अब इंटरमीडिएट कालेजों के बेटियों को आगे लाने के उदेश्य से स्कूल स्कुल बेटी पंचायत का आयोजन कर रही है इस मेगा अभियान में स्कूली छात्राएं से बेटियों  के जन्म,सुरक्षा और अधिकार के आवाज को खुद बुलंद करने के पहल की जा रही है। बेटी पंचायत के पांचवी कड़ी में शुक्रवार को संस्था फातमान स्थित राजकीय बालिका इंटर कालेज में पहुंची थी। जहां छात्राओं ने भ्रूण ह्त्या रोकने के प्रभावी उपाय संग सुरक्षा और रोजगार के संबधी सुझाव भी रखे।

बेटी पंचायत में जज की भूमिका में प्रिंसिपल राजकीय बालिका इंटर कालेज डॉ नाहिदा बेगम प्रिंसिपल ए ओ मुस्लिम स्कूल,डॉ राजीव मिश्रा BHU,रंजना गौण,समाजसेवी और डॉ संतोष ओझा आगमन संस्था से रहे। अभियान में जादूगर किरण और जितेंद्र ने अपने जादू के माध्यम से बेटी बचाने का सन्देश दिया। निर्णायक मंडल ने ग्यारह बेटियों को आगमन बेटी दूत के रूप में चुना गया।

 
 
 बेटी दूत में प्रीति आयुषी कायनात शाहिस्ता वैष्णवी मेहविश नेहरिफात रिंकी शताक्षी कोमल और निधि रही जिन्हे संस्था प्रशस्ति पत्र दे कर सम्मानित किया। अभियान में संस्था के संस्थापक डॉ संतोष ओझा के अगुवाई में हरीकृष्ण,दिलीप श्रीवास्तव,अभिषेक जायसवाल,राजकृष्ण गुप्ता,हरीश शर्मा राजा केशरी ने सहयोग किया। 
Comments