बनारस। धर्म और अध्यात्म की नगरी काशी में तिब्बतियों के सर्वोच्च धर्मगुरु परम पावन दलाई लामा आज अपने पांच दिनी प्रवास को भगवान् बुद्ध की उपदेश स्थली सारनाथ पहुंचे । सारनाथ के केन्दीय तिब्बती विश्वविद्यालय में उपस्थित छात्रों ने दलाई लामा का का भव्य स्वागत किया । धर्मगुरु दलाई लामा के स्वागत में उन्हें खाता देकर सम्मानित किया ।

दलाई लामा के साथ तिब्बत के प्रधानमंत्री सहित सभी मंत्री भी इस समारोह में शिरकत करने पहुंचे हैं।

बौद्ध धर्म की मान्यताओं के अनुसार दलाई लामा के आगमन के मद्देनजर तिब्बती संस्था के मुख्य द्वार से लेकर सभा स्थल तक सड़क पर शुभांकर बनाए गए। वही धर्मगुरु दलाई लामा के आगमन को लेकर सुबह से ही तिब्बती संस्थान के बाहर सैकड़ो की संख्या में नार्थ ईस्ट के लोगो का जमावड़ा लगा हुआ था।  तिब्बती संस्थान के छात्रों में दलाई लामा के आगमन को लेकर उत्साह का माहौल है । दलाई लामा के तिब्बती संस्था में पहुंचने पर अक्षत से और परम्परागात ध्वनि के साथ स्वागत किया गया।

 

दलाई लाम के आगमन को लेकर विश्वविद्यालय परिसर में सुरक्षा के सभी इंतज़ाम किये गये थे।  बता दे की तिब्बतियों के सर्वोच्च धर्मगुरु परम पावन दलाई लामा 30 व 31 दिसम्बर को सारनाथ में आयोजित भारतीय दर्शन व् आधुनिक विज्ञान में मन की अवधारणा  अंतराष्ट्रीय संगोष्ठी का उद्घाटन करेंगे।  इस आयोजन में शामिल होने के लिए देश के अलग अलग हिस्सों से लोग वाराणसी आये है।इसके अलावा दलाई लामा 1 जनवरी को तिब्बती विश्वविद्यालय के 50 वर्ष पुरे होने पर आयोजित स्वर्ण जयंती समारोह को सम्बोधित करेंगे।                            
Comments