बनारस । परम पावन दलाई लामा शुक्रवार को अपने 5 दिवसीय दौरे पर सारनाथ पहुंच रहे हैं । चीन के रुख को देखते हुए सुरक्षा एजेंसियां दलाई लामा की सुरक्षा के लिए मुस्तैद हैं । दूसरी तरफ सारनाथ स्थित तिब्बत संस्थान में दलाई लामा के कार्यक्रम और अबके शुभ के लिए मान्यताओं का सुरक्षा कवच तैयार किया गया है ।

परम पावन दलाई लामा आज दोपहर बाद सारनाथ स्थित तिब्बती संस्थान पहुंचेंगे । बौद्ध धर्म की मान्यताओं के अनुसार दलाई लामा के आगमन के मद्देनजर तिब्बती संस्था के मुख्य द्वार से लेकर सभा स्थल तक सड़क पर शुभांकर बनाये जा रहे हैं ।

 

इन शुभांकर के बारे में तिब्बती संस्थान के प्रोफेसर नवांग तेम्बिल ने बताया कि धर्म के अनुसार 8 वस्तुएं जिंसमे शंख, फूल, चक्र, गदा,कलश, एवं तीन अन्य कलाकृतियां  मनागल कलाकृति मानी गयी है | जिसके बनाने से हर काम शुभ होता है | यही आठ कलाकृतिया परम पावन के मार्ग पर बनाई जाए रही है ताकि उनका आगमन शुभ और शांति से सम्पन्न हो । उन्होंने बताया कि ये शुभांकर सिर्फ महापुरुषों के आगमन के समय बनाये जाते हैं ।

चीन के दलाई लामा के ऊपर तल्ख रुख़ के बाद जिला प्रशासन, ज़िला पुलिस और कई सुरक्षा एजेंसियां दलाई लामा की इस यात्रा पर नज़र बनाये हुए है । इन सब के बीच मान्यताओं का यह सुरक्षा कवच दलाई लामा की राह देख रहा है ।

Comments