बनारस। दो दिवसीय दौरे पर वाराणसी आये प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ वापस लखनऊ लौट चुके हैं। मुख्‍यमंत्री ने गुरुवार की देर रात बनारस के विभिन्‍न इलाकों का जमीनी मुआयना किया तो दूसरे दिन भी कई कार्यक्रमों और बैठकों को संबोधित किया। वहीं जाते-जाते मुख्‍यमंत्री ने वाराणसी पुलिस को खुली छूट देने की बात भी कही।

 

कमिश्‍नरी सभागार में जिले के सभी वरिष्‍ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक के दौरान मुख्‍यमंत्री पूरे रौ में नजर आये। उन्‍होंने वाराणसी पुलिस की कार्यप्रणाली पर संतोष व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि कानून व्यवस्था की स्थिति पहले से सुधरी जरूर है, लेकिन अभी सुधार की तमाम गुंजाइशें हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि थाने व डायल 100 की गाड़ियों की पेट्रोलिंग बढ़ाएं, ताकि गंभीर अपराध पर काबू पाया जा सके।

 

मुख्‍यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों से कहा कि हमारी तरफ से आप सभी को खुली छूट मिली है, अब पुलिस का खौफ अपराधियों पर दिखना भी चाहिए। मुख्‍यमंत्री ने गुंडा तत्वों तथा माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई तेज करने का निर्देश दिया। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि ठेकेदारी के नाम पर कहीं भी गुंडई नहीं होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने अफसरों से कहा कि शहर में चल रहे विकास कार्यों को जनवरी के अंत तक हर हाल में पूरा करें। खासकर सड़कों पर चल रहे केबल डालने कार्य पूर्ण कर लें। ताकि फरवरी से सड़कों के निर्माण तथा लेपन का कार्य युद्ध स्तर पर शुरू हो सके। इस मामले में लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी।

समीक्षा के दौरान जल निगम अधिकारियों की मुख्‍यमंत्री ने जमकर क्लास ली। मुख्यमंत्री को पता चला था कि शहर के 10 जोन में पेयजल सप्लाई का काम पूरा होने के बावजूद बाधित है। उन्होंने अधिकारियों से कारण जानना चाहा तो बताया गया कि पेयजल लाइन को आपस में जोड़ा ही नहीं गया है। कई जगह गैप होने के कारण शुद्ध पेयजल की सप्लाई नहीं हो पा रही है। 31 इलाकों में इन कमियों को दूर कर लिया गया है, लेकिन 10 जोन में यह कार्य अभी बाकी है। उन्होंने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए उस वक्त तैनात जिम्मेदार अभियंता ठेकेदार समेत सभी कर्मचारियों की सूची तलब करते हुए कठोर कार्रवाई के निर्देश दे दिये।

मुख्यमंत्री ने मेयर तथा नगर आयुक्त को प्रत्येक दिन 2 वार्डों का दौरा कर भौतिक सत्यापन करने को कहा। कूड़ा उठान व साफ सफाई पर नजर रखने के साथ यह भी कहा कि चौकाघाट फ्लाईओवर समेत तमाम विकास कार्य अपने पूर्ण समय अवधि परिपूर्ण हो वरना अधिकारी नपेंगे। समीक्षा बैठक के दौरान कई अधिकारियों पर मुख्यमंत्री की भृकुटि तनी रही।

चेकिंग के नाम पर वाहनों से अवैध वसूली करने पर खामियाजा भुगतना पड़ेगा
मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरटीओ एवं पुलिस विभाग द्वारा सड़को पर चेकिग के नाम पर वाहनो से होने वाले अवैध वसूली को पूरी तरह बंद किये जाने हेतु विभागीय अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया। उन्होने आरटीओ के अधिकारी को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि चेकिग के नाम पर सड़क के किनारे विभागीय वाहन खड़ा कर वाहनों से अवैध वसूली के साथ ही थानों के माध्यम से भी वसूली किये जाने की शिकायत मिल रही है।

वाहन स्‍टैंड के ठेकेदारों की गुंडई बंद हो
मुख्‍यमंत्री ने अवैध वसूली पर रोक लगाये जाने के साथ वाहन स्टैण्डो के ठीकेदारो द्वारा गुण्डई कर वाहनो से किये जाने वाले वसूली पर उन्होने प्रभावी तरीके से रोक लगाये जाने पर विशेष जोर दिया।

मुख्‍यमंत्री ने सवाल करते हुए पूछा कि पुलिस के कार्य में किसी भी प्रकार की कोई दखलअंदाजी नही होने दिया जा रहा तथा पुलिस को अपराधियों एवं माफियाओं पर कार्यवाही के लिये पूरी छूट देने के बावजूद भी आखिर ये खुलेआम कैसे घुम रहे हैं। उन्होने संगठित अपराध करने वाले अपराधियो एवं माफियाओं को कत्तई न बख्‍शने पर जोर देते हुए ऐसे लोगों को उनके सही ठिकाने यानि जेल भेजने का निर्देश दिया।

बैठक की मुख्‍य बातें
1. हर रोज कम से कम एक किलोमीटर पैदल गश्‍त पर जरूर निकले पुलिस।
2. जून 2018 तक पूरा कराया जाये रिंग रोड फेज-1 का कार्य।
3. सुलतानपुर-वाराणसी 4-6 लेन सड़क चौड़ीकरण कार्य की धीमी प्रगति पर भी नाराजगी।
4. बीएचयू में निर्माणाधीन सुपर स्पेशलिटी कैसर अस्पताल के कार्य में तेजी लाये।
5. आईपीडीएस द्वारा पुरानी काशी क्षेत्र में कराये जा रहे भूमिगत वायरिंग कार्य को युद्धस्तर पर करायें।
6. मुख्यमंत्री ने कार्यदायी संस्थाओं की ओर इशारा करते हुए कहा कि काशी की सड़क अब गड्ढामुक्त होनी चाहिये।
7. चिह्नित सड़कों पर 31 जनवरी तथा गलियो में 15 फरवरी तक हेरिटेज पोल लगाये जाने के कार्य को पूरा कराये जाने का निर्देश।
8. तालाबो/कुण्डो के मरम्मत एवं जीर्णोद्वार कार्य को 31 मार्च तक प्रत्येक दशा में पूरा कराये जाने का निर्देश।
9. दीनापुर सीवरेंज ट्रीअमेंट प्लानट के निर्माण कार्य को मार्च, 2018 तक पूरा कराये जाने पर उन्होने विशेष जोर।
10. गोइठहा सीवरेज ट्रीटमेन्ट प्लान्ट के धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्य में तेजी लाये जाने का निर्देश।
11. वाराणसी शहर में सड़कों पर कूड़ा घर न बनाये जाने का निर्देश।
12. चौराहों पर बनाये गये मूत्रालयों में व्याप्त गंदगी का जिक्र, नियमित सफाई सुनिश्चित कराई जाये।
13. जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को कुण्डली मारकर कार्यालय में बैठने की बजाए क्षेत्र में निकल विद्यालयों का निरीक्षण कर व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश।

14. जनप्रतिनिधियों को एक-एक विद्यालस गोद लिये जाने का भी निर्देश दिया।
15. नगर निगम के 3000 सफाईकर्मियों के बावजूद शहर की समुचित सफाई न होने पर भी सवाल उठाया।
16. चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर को जून, 2018 तक हर हाल में पूरा करें।
17. वरूणा कॉरिडोर के कार्य को अभियान चलाकर 31 मार्च तक पूरा कराएं।
18. पंचक्रोसी परिक्रमा मार्ग के पड़ावों पर तीर्थ यात्रियों के ठहरने आदि संबंधी बुनियादी व्यवस्‍था मुहैया कराएं।

इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डा0 नीलकंठ तिवारी, महापौर मृदुला जायसवाल, अध्यक्ष जिला पंचायत, विधायक कैण्ट सौरभ श्रीवास्तव, उत्तरी रवीन्द्र जायसवाल, पिण्डरा अवधेश सिंह, सेवापुरी नीलरतन पटेल, रोहनियां सुरेन्द्र नारायण सिंह, अजगरा कैलाश सोनकर, एमएलसी चेतनारायण सिंह, शतरूद्र प्रकाश के अलावा सूचना एवं पर्यटन सचिव अवनीश अवस्थी, कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण, आईजी दीपक रतन, जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र, उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण, मुख्य विकास अधिकारी सुनील कुमार वर्मा, नगर आयुक्त डा0 नितिन बंसल सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

Comments