बनारस।  जानलेवा हुए चईनीज़ मांझे का विरोध जगह जगह हो रहे हैं।  इसी क्रम में शिक्षा की नगरी कही जाने वाले शहर वाराणसी में स्थित महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविध्यालय के छात्रों ने चईनीज़ मांझे का पुतला जलाया और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारे बाज़ी की।  छात्रों ने आरोप लगाया कि कुछ लोगों की मिलीभगत से चईनीज़ मांझा खुले आम बिक रहा है।


हाईकोर्ट की रोक और जिला प्रशासन के सख्त आदेश के बाद भी आये दिन जिले की पुलिस रोज़ भारी मात्रा मे खुली आम चईनीज़ मांझा पकड रही है।  जिसका मुख्य कारण है कुछ लोगों की मिलीभगत। उक्त बातें महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविध्यालय के पूर्व पुस्तकालय मंत्री अमित यादव ने चईनीज़ मांझे का पुतला फूकने के बाद कही।  उन्होंने कहा कि आये दिन कोई न कोई व्यक्ति इस मांझे का शिकार बनकर घायल हो रहा है।

हाल ही में बनारस के दालमंडी इलाके से 4 कुंटल और कल लक्सा थाना क्षेत्र से 8 किलो चईनीज़ मांझा पुलिस द्वारा बरामद करना इस बात का सबूत है कि कोई न कोई व्यक्ति इस मामल में मिलीभगत कर रहा है।

Comments