बनारस। मकर संक्रान्ति के अवसर पर सामाजिक संस्था शिक्षा दीक्षा फाउंडेशन के द्वारा उपन्यास सम्राट एवं महान पत्रकार मुंशी प्रेमचंद के गांव  लमही में पहली बार पतंगबाजी प्रतियोगिता आयोजित की गई।  जिसमें सैकड़ों बच्चों ने हिस्सा लिया

 एसडीएफ संस्था ने सर्व प्रथम सैकड़ों बच्चों को पतंग तथा रेशम बांटा। गुड्डी,  मांझा और रेशम पाकर बच्चों के चेहरे खिल उठे। इसके बाद लमही में पतंग महोत्सव की शुरुआत हुई। सारा आसमान रंग बिरंगी पतंगों से पट गया। हर ओर भा-कट्टे का शोर सुनाई देने लगा। पतंगबाज़ी प्रतियोगिता की शुरुआत लमही  के ग्राम प्रधान संतोष कुमार सिंह और एसडीएफ संस्था के संरक्षक डा॰ प्रभाशंकर मिश्र ने सांकेतिक रूप से पतंग उड़ा कर किया।

 

 “काशी का पतंगबाज़ कौन” 
  

शिक्षा दीक्षा फाउंडेशन के फाउंडर मेम्बर अभिषेक श्रीवास्तव ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि बच्चों में संस्कृति के प्रति जागरूकता बनी रहे इसके लिए मकर संक्रान्ति पर “काशी का पतंगबाज़ कौन” नामक पतंगबाजी प्रतियोगिता आयोजित की गई। बच्चे पढ़ाई के साथ साथ खेलकुद में भी आगे बढ़ें इसलिए इस प्रकार के और कार्यक्रम होने चाहिए।

 

 
संस्था के संस्थापक सदस्य सुमित कुमार पाण्डेय ने बच्चों में पतंग प्रतियोगिता के कराने के पीछे के उद्देश्यों को बताते हुए कहा कि यह केवल एक त्योहार की परंपरा नहीं है बल्कि इसके ज़रिए बच्चों को उमंगों व हौसलों की उड़ान को भी पंख देना है और त्योहारों के महत्व के प्रति भी जागरूक करना है। संस्था बच्चों में शिक्षा के साथ-साथ पर्वों व त्यौहारों के महत्व को भी बताना है।
पतंगबाजी के जरिये दिया जागरूकता संदेश 

नाज़रा नूर ने बताया कि हमारी संस्था ने बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ, सब पढ़ें – सब बढ़े, स्वच्छ भारत अभियान से जुड़े स्लोगन वाली पतंगों का वितरण किया है जिससे लोगों में जागरूकता फैले, इसके साथ ही हमारी संस्था ने चाइनीज़ माँझे के बहिष्कार की अपील भी बच्चों से की।

प्रतियोगिता के अंत में विजेताओं को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया एवं शेष प्रतिभागियों को सांत्वना पुरस्कार भी दिया गया। 

इस अवसर पर सुमित कुमार पाण्डेय, मनीषा सिंह, पप्पू, अमित झा, अभिषेक श्रीवास्तव, ओम यादव, नदीम, सतीश, लकी, खालिद, साहिल, आशीष राठौर, पवन सहित संस्था के अन्य लोग उपस्थित रहे वहीं लमही ग्राम प्रधान संतोष कुमार सिंह, सोयेपुर ग्राम प्रधान रीतेश पाण्डेय, अजित ऊर्फ पप्पू, शैलेश पाण्डेय(शुड्डू), मणिकांत उपाध्याय, चंद्रबलि पटेल, देवानंद पटेल, राममोहन मिश्रा, महेश उपाध्याय, सोनू पाण्डेय आदि उपस्थित रहें।
Comments