कैंट स्‍टेशन पर रेलयात्रियों को जागरूक कर रही बनारस के उद्योगपति की ये बेटी 

बनारस। रेल यात्रियों की कन्‍फ्यूजन दूर करने के लिए वाराणसी के पूर्व एसएसपी आईपीएस नितिन तिवारी की पहल पर कैंट स्‍टेशन पर एक फोटो प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। बनारस की बेटी स्नेहा रॉय की ओर से राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) के लिए जनजागरूकता अभियान के सिलसिले में इस फोटो प्रदर्शनी को यहां रेलयात्रियों के लिए लगाया गया।

प्रदर्शनी का उद्घाटन जीआरपी के सीओ विमल किशोर श्रीवास्तव के हाथों किया गया। साथ में जीआरपी कैंट स्टेशन के थाना प्रभारी जेपी सिंह भी मौजूद रहे। इस दौरान यूपी पुलिस और जीआरपी के लिए कई शैक्षणिक और सूचनाप्रद फिल्‍में बनाने वाले डॉ जगदीश पिल्‍लई भी कार्यक्रम में मौजूद रहे। वाराणसी के डॉ पिल्‍लई के नाम चार गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड हैं।

लोगों को समझाया खाकी-खाकी में फर्क

इस जनजागरूकता फोटो प्रदर्शनी के द्वारा स्‍नेहा रॉय ने मुख्‍य रूप से आरपीएफ एवं जीआरपी के की कार्यशैली के अंतर को आम जनता को समझाने की कोशिश की है। स्‍नेहा के अनुसार यह मुहिम इसलिए चलायी जा रही है ताकि यात्रा के दौरान किसी भी तरह की अप्रिय घटना होने पर यात्री तुरंत जीआरपी से संपर्क कर सकें। उन्‍होंने बताया कि ज्यादातर यात्री हर खाकी वर्दीधारी को पुलिसकर्मी समझ लेता है, जबकि ऐसा नहीं है।

स्‍नेहा ने विस्‍तार से बताया कि राजकीय रेलवे पुलिस जिसे शॉर्टफॉर्म में जीआरपी भी कहते हैं, दरअसल उत्तर प्रदेश पुलिस के अधीन आता है। वहीं रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) भारतीय रेलवे के अधीन यानी केंद्र सरकार के अंतर्गत आता है।

पूर्व एसएसपी के मार्गदर्शन में चल रहा अभियान 

बताया गया कि इस फोटो प्रदर्शनी अभियान को वाराणसी के पूर्व वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक आईपीएस नितिन तिवारी के मार्गदर्शन में चलाया जा रहा है। आईपीएस नितिन तिवारी फिलहाल जीआरपी आगरा में रेल पुलिस अधीक्षक की महत्‍वपूर्ण जिम्‍मेदारी संभाल रहे हैं।

स्नेहा चला रहीं कई और अभियान 
प्रधानमंत्री के “बेटी बचाओ बेटी पढाओ” एवं “स्किल इंडिया” जैसी मुहीम से प्रेरित होकर लाइफ में कुछ अलग करने की सोच रखने वाली स्नेहा रॉय अपनी फोटोग्राफी कला के द्वारा कई तरह के जनजागरूकता अभियान चला रही हैं। जीआरपी के लिए उनका यह पहला प्रयास है। आगे भी, बरगद का पेड़, आई डोनेशन, अन्धेरे से उजाले तक, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ आदि मुहीम पर वह कार्य कर रही हैं।

बता दें कि स्नेहा रॉय शहर के जाने-माने उद्योगपति एवं समाजसेवी नरेश रॉय की बेटी हैं, इस मुहीम की पहली प्रदर्शनी दो हफ्ते पहले लखनऊ चारबाग़ स्टेशन पर लगायी गयी थी। रेल पुलिस उपाध्यक्ष के द्वारा इसका लोकार्पण किया गया।

Comments
Loading...