वाराणसी : PM के गांव जाती है ये ‘अपशकुनी’ सड़क, बनवाने के नाम पर छूट रहे सबके पसीने 

बनारस। रोहनिया क्षेत्र के कचनार-राजातालाब गांव व तहसील राजातालाब सहित आराजीलाइन ब्‍लॉक व राजातालाब बाजार में इन दिनों स्‍थिति नारकीय हो गयी है। यहां पिछले कई महीनों से सीवर का पानी सड़क पर उफना रहा है। बावजूद इसके इस सड़क को बनवाना तो दूर जनप्रतिनिधि और अधिकारी यहां झांकने तक नहीं आ रहे। गांव वालों ने इसका एक बड़ा चौंकाने वाला कारण भी बताया।

प्रधानमंत्री के गांव तक जाती है ये सड़क

बता दें कि कचनार गांव में ही आराजीलाइन ब्लाक है। इसी गांव की सीमा से सटे वीरभानपुर गांव मे राजातालाब तहसील स्थित है। जबकि यह जर्जर मार्ग सेवापुरी विधायक नील रतन पटेल नीलू के गांव शाहंशाहपुर व पीएम मोदी के बतौर सांसद प्रथम चरण में गोद लिए आदर्श गांव जयापुर तक जाता है। आलम यह है कि गांव की इस जर्जर सड़क से होकर आये-दिन कई आलाधिकारी और राजनेता गुजरते हैं, लेकिन यहां रुककर इस सड़क को दुरुस्‍त कराने की जहमत किसी ने उठाना गंवारा नहीं समझा।


हारने के डर से जनप्रतिनिधि नहीं बनवा रहे सड़क
इस रोड को लेकर कुछ अजीबो-गरीब बातें भी सामने आई हैं। दरअसल, वाराणसी लोकसभा सीट से तीन बार के सांसद शंकर प्रसाद जायसवाल ने उक्त रोड को बनवाया तो वह चुनाव हार गए। इसके बाद दो बार के विधायक बचनू पटेल ने उक्त रोड की मरम्मत कराई तो वह भी चुनाव में धराशायी हो गये। यही नहीं तीन बार से विधायक रहे सुरेंद्र पटेल का भी वही हश्र हुआ, उन्‍होंने भी इस रोड की मरम्मत करायी थी। अब अपशकुन के डर से इस रोड को कोई भी जनप्रतिनिधि हाथ नहीं लगवा रहा है।

प्रधान भी कर रहे आनाकानी 
ग्रामीणों की ओर से कई बार शिकायत के बाद भी न तो ग्राम प्रधान और ना ही जिला पंचायत सदस्य कोई सुनवाई कर रहे हैं। ग्रामीणों ने यहां तक आरोप लगाया कि ग्राम प्रधान से इस बारे में शिकायत करने पर वो साफ-साफ कहते हैं कि अगली बार मुझे चुनाव नहीं हारना है और खाते में पैसा भी नहीं है। आरोप है कि प्रधान कहते हैं कि इस इलाके से मुझे वोट नहीं मिला था, इसलिए आप लोगों को जो भी लिखा पढ़ी करनी हो करो, मेरा कुछ भी नहीं बिगड़ने वाला है।

बड़े-बड़े जानलेवा गड्ढे बन गये हैं 
पुरानी पुलिस चौकी राजातालाब राष्ट्रीय राजमार्ग-2 से होकर जक्खिनी/ पंचक्रोशी मार्ग राजातालाब- जक्खिनी मार्ग तथा रानी बाजार रेलवे लाइन तक यह रास्‍ता जर्जर हालत में है। इस मार्ग पर बड़े-बड़े जानलेवा गड्ढे हैं, सङक के दोनों तरफ बना भूमिगत सीवर लाइन जगह जगह क्षतिग्रस्त हो गया है और उसका गंदा पानी व मल-मूत्र सड़क के जानलेवा गड्ढों में जमा हो गया है। इससे लगातार यहां दुर्घटनाएं हो रही हैं और लोग सीवर के पानी में गिरकर ना सिर्फ घायल हो रहे हैं बल्‍कि बीमारियों को भी दावत दे रहे हैं।

कई बार लगा चुके हैं गुहार 
स्थानीय निवासी व सामाजिक कार्यकर्ता राज कुमार गुप्ता ने उक्त सड़क व सीवर लाइन बनवाने के लिए कई बार आलाधिकारियों से गुहार लगायी है। इसके अलावा धरना प्रदर्शन भी किया, बावजूद इसके कुछ भी नहीं हुआ। बता दें कि काशी की पंचक्रोशी परिक्रमा मार्ग को लेकर जब इतनी उदासीनता है तो फिर अन्‍य मार्गों का भगवान ही मालिक है।

दबायी जा रही है आवाज 
क्षेत्रीय व्यापारी चन्द्र शेखर जायसवाल, कमलेश केशरी, श्री नाथ गुप्त, दिनेश विश्वकर्मा, बजरंगी लाल आदि ने स्थानीय विधायक नील रतन पटेल नीलू व एसडीएम व डीएम से भी समाधान दिवस पर इस सड़क को बनवाने के लिए कई बार अनुरोध किया, लेकिन आज तक कुछ नही हुआ। व्‍यापारियों का आरोप है कि इस मामले को जब जबकि सामाजिक कार्यकर्ता राज कुमार गुप्ता सहित अन्‍य व्यापारियों ने उठाया तो स्थानीय प्रशासन उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आवाज दबाने का काम करने लगा।

सड़क नहीं बनी तो होगा चुनाव का बहिष्कार

क्षेत्रीय नागरिकों ने चेतावनी दी है कि जल्द ही अगर इस समस्या का समाधान नही हुआ तो आगामी चुनाव मे मतदान का बहिष्कार किया जायेगा। इसके अलावा प्रत्याशी के रूप मे वोट मांगने वालों को भी खदेड़ दिया जायेगा। गांव वालों को इस बात को लेकर भी दु:ख है कि इतने दिनों से परेशानी रोने के बावजूद सरकार का कोई भी मुलाजिम या जनप्रतिनिधि उनकी समस्‍या पर ध्‍यान नहीं दे रहा है। यहां तक कि किसी ने भी इस खस्‍ताहाल सड़क के बारे में जानने के लिए इस ओर झांकने तक की जहमत नहीं उठायी।

Comments
Loading...