फिर धरने पर बैठीं BHU की छात्राएं, इस बार दूसरी बात पर हैं नाराज 

बनारस। महामना की बगिया काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में बीते साल सितंबर में छेड़खानी का विरोध कर रही छात्राओं पर हुए लाठीचार्ज के बाद से बीएचयू का विवादों से जैसे रिश्ता सा बन गया है। आये दिन यहां कुछ न कुछ ऐसा हो रहा है जिससे छात्र-छात्राओं को धरना प्रदर्शन करना पड़ रहा है।

इसी क्रम में सोमवार को एक बार फिर बीएचयू महिला महाविद्यालय की छात्राएं आंदोलनरत हैं। इसके बाद परिसर का माहौल एक बार फिर गर्म हो गया है। इस बार छात्राओं के आंदोलन का कारण मेस की मनमानी है। भोजन और अन्य सुविधाओं की मांग को लेकर एमएमवी के मुख्य द्वार कुछ छात्राएं धरने पर बैठी हुई हैं।

धरनारत छात्रा आकांक्षा आज़ाद ने बताया कि जनवरी में हम जितने दिन हास्टल में नहीं रहे उसकी भी हमसे मेस के लिए फीस ली जा रही है। छात्रा का आरोप है कि किसी को 100 रुपये तो किसी से 500 तो कोई 2000 रुपये तक देने को विवश हुआ है। आजाद के अनुसार हमारी क्लासेस 20 से 25 जनवरी के बाद शुरू हुईं ऐसे में हमें सिर्फ 6 जनवरी तक छूट दी गयी।

आकांक्षा आजाद ने बताया कि हॉस्‍टल की छात्राओं को नॉनवेज नहीं दिया जाता। उसने मांग की कि विश्वविद्यालय की अन्य मेसों की तर्ज पर डाईट पे का रूल हमारी मेस में भी होना चाहिये। जब तक ऐसा नहीं होगा हम धरना देंगे।

खबर लिखे जाने तक बीएचयू प्रशासन की तरफ से कोई भी जिम्मेदार कर्मचारी या अधिकारी इनसे संवाद करने नहीं पहुंचा था।

Comments
Loading...