बनारस। शहर-ए-बनारस के लि‍ए बेहद सुखद समाचार है। शहरी वि‍कास मंत्रालय के क्‍वालि‍टी काउंसि‍ल ऑफ इंडि‍या की ओर से जारी कि‍ये गये स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण 2017 की रि‍पोर्ट में वाराणसी शहर को 32वां स्‍थान मि‍ला है। यह सर्वेक्षण देश के 434 शहरों के लि‍ए कराया गया है जि‍समें वाराणसी पूरे उत्‍तर प्रदेश में सबसे स्‍वच्‍छ शहर बनकर सामने आया है।
उत्‍तर प्रदेश का इकलौता शहर
यह भी बता दें कि‍ देश के टॉप 100 स्‍वच्‍छ शहरों में वाराणसी पूरे उत्‍तर प्रदेश का इकलौता शहर है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी जहां पि‍छले साल इस सूची में 65वें पायदान पर था वहीं सन 2014 में इसकी रैंकिंग 418 थी।

गोंडा सबसे अस्‍वच्‍छ
वाराणसी के अलावा उत्‍तर प्रदेश के अलीगढ़ शहर को 145वें रैंक तथा झांसी को 166वें रैंक पर रखा गया है। जबकि‍, यूपी का गोंडा देश का सबसे अस्‍वच्‍छ शहर यानि‍ 434वें रैंक पर है।
सांसद मोदी ने दि‍खाई राह
बता दें कि‍ प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा 2014 में शुरू कि‍ये गये स्‍वच्‍छ भारत अभि‍यान के फलस्‍वरूप इस ऐति‍हासि‍क शहर ने स्‍वच्‍छता के मामले में ऊंची छलांग लगाई है। खुद प्रधानमंत्री ने भी बनारस के अस्‍सी घाट से काशी में स्‍वच्‍छता अभि‍यान की शुरूआत की थी। जि‍सके बाद वाराणसी नगर नि‍गम की तत्‍परता और कई युवा स्‍वयंसेवकों की टीम द्वारा बढ़-चढ़कर बनारस में इस अभि‍यान को सफल बनाने के लि‍ए कोशि‍श की गई, जि‍सके सार्थक परि‍णाम नि‍कलकर सामने आए हैं। वाराणसी नगर नि‍गम के अलावा आईएलएफएस, केआईएएनए और ईकोपाल जैसी संस्‍थाओं के स्‍वयंसेवकों ने काशी के सभी 84 घाटों और वार्डों में साफ सफाई को लेकर अभि‍यान चलाया। नतीजा हम सबके सामने है।

विज्ञापन

 

लोगों की सोच में आया बदलाव
वाराणसी में स्‍वच्‍छ भारत अभि‍यान के नोडल अधि‍कारी डॉ. एके दूबे के अनुसार प्रधानमंत्री द्वारा स्‍वच्‍छता अभि‍यान की शुरुआत से लोगों की सोच में बदलाव आया है। लोग अब सड़क पर कचरा फेंकने की जगह कूड़ेदान तलाशते हैं। डॉ दूबे की मानें तो स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण में वाराणसी को यूपी का सबसे साफ शहर बनाए जाने के बाद उन लोगों की मानसि‍कता भी बदलेगी जो अभी भी कूड़ा करकट फैला रहे हैं।
डॉ दूबे ने उम्‍मीद जाहि‍र की है कि‍ आने वाले वर्षों में वाराणसी यूपी ही नहीं बल्‍कि‍ पूरे देश का सबसे स्‍वच्‍छ शहर बनकर उभरेगा।
ये शहर हैं टॉप टेन
यह भी बता दें कि‍ देश के टॉप टेन स्‍वच्‍छ शहरों में क्रमश: 1. इंदौर (मध्‍य प्रदेश), 2. भोपाल (मध्‍य प्रदेश), 3. वि‍शाखापट्टनम (आंध्र प्रदेश), 4. सूरत (गुजरात), 5. मैसूरू (कर्नाटक), 6. ति‍रुचि‍रापल्‍ली (तमि‍लनाडु), 7. एनडीएमसी (दि‍ल्‍ली), 8. नवी मुम्‍बई (महाराष्‍ट्र), 9. ति‍रुपति‍ (आंध्रप्रदेश) तथा 10. वडोदरा (गुजरात) शामि‍ल हैं।
विज्ञापन
Loading...
वाराणसी का रहने वाला हूं। 2005 से पत्रकारिता के विभिन्‍न माध्‍यमों से जुड़ा हुआ हूं। टीवी, प्रिंट व वेब मीडिया में फील्‍ड और डेस्‍क का अनुभव है। जी न्‍यूज़, अमर उजाला, हिन्‍दुस्‍तान, ईनाडु इंडिया सहित विभिन्‍न संस्‍थानों से जुड़कर अपनी सेवाएं दे चुका हूं। 2013 में वाराणसी के सबसे पहले डेली न्‍यूज के डिजिटल वेब पोर्टल Live VNS की शुरुआत की है। वेब डिज़ाइनिंग, ग्राफिक्‍स डिज़ाइनिंग, डिजिटल मार्केटिंग, SEO, SEM, वीडियो एडिटिंग, सोशल मीडिया स्‍ट्रेटेजी/मार्केटिंग आदि सेक्‍टर में हाथ आजमाता रहता हूं। अभी पत्रकारिता के आधा गुण ही हैं मुझमें। सोशल मीडिया पर यहां मुझसे जुड़ें।