बनारस। सर्व शिक्षा की राजधानी बनारस की महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ का 39 वां दीक्षांत समारोह आज संम्पन्न हुआ। जिसमें सूबे के राज्यपाल और विद्यापीठ के कुलाधिपति राम नाईक ने मेधावियों को मेडल और सर्टिफिकेट वितरित किये। इस दौरान देश के मंगलयान मिशन के प्रमुख वैज्ञानिक के राधाकृष्‍णन भी बतौर मुख्‍य अतिथि विद्यापीठ पधारे थे।

 

दीक्षांत समारोह को लेकर विशेष रूप बनाए गये संसद भवन पंडाल में आज 58 मेधावी छात्र-छात्राओं को गोल्‍ड मेडल देकर पुरस्‍कृत किया गया। कार्यक्रम के दौरान मंच से बोलते हुए राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि लड़कियां बिना आरक्षण के ही आगे जा सकती हैं।


उन्‍होंने लड़कों की अपेक्षा लड़कियों द्वारा ज्‍यादा मेडल प्राप्‍त करने की चर्चा करते हुए कहा कि हमें हमारी बच्‍चियों के लिए अवसरों के द्वार खोलने की आवश्‍यक्‍ता है, जिसके बाद वह हर बाधा को पार कर सकती हैं। राज्‍पाल ने कहा कि ऐसी बेटियों का हमें अभिनंदन करना चाहिए।

राज्‍यपाल में इन दिनों संपूर्णानंद संस्‍कृत विश्‍वविद्यालय में चल रहे विवाद पर भी अपना मंतव्‍य साफ करते हुए कहा कि मैं कुलाधिपति होने के नाते सभी आंदोलनरत छात्रों से अपील करता हूं कि आपको जो भी परेशानी है वो मुझसे बताएं। मैंने कल भी आंदोलन कर रहे छात्रों को मिलने के लिए बुलाया था आज भी कहता हूं कि जो भी परेशानी है मुझसे मिलकर बताएं, हम समाधान निकालेंगे।

पूर्व डॉ पृथ्‍वीश नाग ने बताया था कि‍ इस बार उपाधी प्राप्‍त करने में छात्रों (42,575) की तुलना में छात्राओं की संख्‍या (57,318) ज्‍यादा है। इस वर्ष 99,829 छात्र-छात्राओं को उपाधियां वितरित की गईं।

बता दें कि आज हुए दीक्षांत समारोह में कुल 58 मेधावियों को 59 गोल्‍ड मेडल प्रदान कि‍ये गये। इनमें भी बेटि‍यों ने बाजी मारी है। 40 छात्राओं को स्‍वर्ण पदक से नवाजा गया। यही नहीं मास्‍टर ऑफ बि‍जनेस एडमि‍नि‍स्‍ट्रेशन (एमबीए) की छात्रा शिवानी जायसवाल को सबसे ज्‍यादा अंक प्राप्‍त करने पर युनि‍वर्सि‍टी की ओर से डॉ.विभूति नारायण सिंह स्मृति स्वर्ण पदक प्रदान कि‍या गया।

इस दौरान राज्‍यपाल और वि‍श्‍ववि‍द्याल के कुलाधि‍पति‍ राम नाईक ने योग और नेचुरोपैथी केंद्र का उद्घाटन किया। साथ ही गांधी स्मृति कक्ष के जीर्णोद्धार और महिला छात्रावास में आगंतुक कक्ष का भी शुभारंभ किया।

देखें तस्‍वीरें

Comments