बनारस। नगर निगम चुनावो की तारीख जैसे जैसे नजदीक आ रही है वैसे वैसे प्रत्याशियो की चुनावी सभाओं में भाषायी मर्यादा को ताक पर पर रखने की होड़ मच गई है। ऊट-पटांग भाषणबाजी प्रत्याशियो के बीच चुनावी सभाओं में साफ देखी और सुनी जा सकती है।

ऐसा ही एक बयान दि‍या है सराय गोवर्धन वार्ड नंबर 67 से सपा प्रत्‍याशी संदीप मि‍श्रा ने। ये बयान ऐसी जनसभा में दि‍या गया जि‍समें मंच पर समाजवादी पार्टी के वरि‍ष्‍ठ नेता और पूर्व वि‍धानसभा अध्‍यक्ष माता प्रसाद पांडेय भी मौजूद थे।


पहले आपका परिचय कराते है इन महोदय से, ये है वार्ड 67 सराय गोवर्धन से सपा प्रत्याशी संदीप मिश्र जो कि इस बार चुनावो में कांग्रेस प्रत्याशी डॉ एस के सिंह के खिलाफ जान से खतरा है का हवाला देते हुए एसएसपी वाराणसी को पत्रक भी दे चुके हैं। कह सकते हैं कि‍ इस चुनाव में सर पर कफन बांध कर चुनावी वैतरणी पार करने के इरादे में है।


अब देखिए ये वीडि‍यो जि‍समें इन्‍हें जान से खतरा तो स्‍थानीय कांग्रेसी प्रति‍द्वंदी से है मगर ‘तमाचा’ मारेंगे देश के प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को।


बता दें कि‍ वार्ड संख्या 67 से समाजवादी पार्टी ने संदीप मिश्र को पार्षद का टिकट दिया है और इन सपा पर्षद प्रत्याशी महोदय का रसूख देखिए कि इनके लिए वोट मांगने सपा के शीर्ष नेता पहुंच रहे हैं। सोमवार की देर रात वार्ड में आयोजित एक जनसभा के दौरान मंच पर पूर्व विधानसभा अध्‍यक्ष माता प्रसाद पांडेय समेत शहर सपा के बड़े बड़े नेता भी मौजूद रहे। वहीं पार्टी के तमाम बड़े-बड़ों के सामने मंच से बोलते हुए प्रत्याशी महोदय मौजूदा पार्षद के काम में मीन-मेख निकलते हुए यहां तक कह गए कि “अगर वो चुनाव जीत जाते हैं तो मोदी के गाल पर झापड़ मार देंगे”


हालांकि‍ इस दौरान मंच पर बैठे पूर्व वि‍धानसभा अध्‍यक्ष और अन्‍य नेताओं ने उन्‍हें चुप कराने की कोशि‍श की लेकि‍न प्रत्‍याशी महोदय अपनी सीमाएं लांघ चुके थे और देश के प्रधानमंत्री तथा वाराणसी के सांसद नरेन्‍द्र मोदी के खि‍लाफ अभद्र टि‍प्‍पणी कर चुके थे।


गौरतलब है कि‍ इससे पूर्व लखनऊ में अखि‍लेश यादव के मंच से भी यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदि‍त्‍यनाथ के खि‍लाफ भी युवा सपाइयों ने अभद्र भाषा का प्रयोग कर दि‍या था, जि‍सके लि‍ए खुद पूर्व मुख्‍यमंत्री अखि‍लेश यादव को माफी मांगनी पड़ी थी, यही नहीं अयोध्‍या से सपा के मेयर प्रत्‍याशी ने भी वि‍रोधि‍यों के लि‍ए अभद्र भाषा का प्रयोग कि‍या था।

Comments