वाराणसी : जब मर गये मजदूर के बच्‍चे तो मालिक देने लगा ‘चुप’ रहने के लिये पैसे

बनारस। जंसा थाना क्षेत्र के कतवारूपुर स्थित एक ईट भट्ठे की दीवार बुधवार को देर शाम गिर गयी। इसमें दबकर लातेहार, झारखंड के रहने वाले बंशी के दो बच्‍चों की मौत हो गयी। वहीं भट्ठा मालिक ने पुलिस को बगैर सूचना दिये ही दोनों बच्‍चों की लाश गायब करा दी। इस बात की जानकारी जैसे ही स्‍थानीय पुलिस को लगी तो उसने मौके पर पहुंचकर अपनी जांच-पड़ताल शुरू कर दी। इसके बाद रात एक बजे बच्‍चों के शवों को पुलिस ने बरामद कर लिया।

दीवार गिराने से हुई मौत !
बसवरिया गांव निवासी बबलू पाठक का ईट भट्ठा कतवारुपुर में चलता हैं। बुधवार की शाम मजदूर बंशी व पंचम भट्ठे के अंदर से ईट निकाल रहे थे उसी दौरान भट्ठे की बारह फीट ऊंची दीवार अचानक भर भराकर गिर गयी। इसमें मजदूर के दोनों बच्चे कमला व पप्पू की मलबे में दबकर मौके पर मौत हो गयी।

मालिक ने गायब किये शव !
बच्‍चों की मौत से पूरे भटठे पर कोहराम मच गया। जानकारी होते ही आस-पास के गाँव वाले भी वहां पहुंच गये। मजदूरों ने मलवा हटाकर घटना की सूचना मालिक को दी। इसके बाद मालिक ने दोनों शव को गायब कर दिया और घटना में किसी के हताहत ना होने की हवा उड़ा दी।

मजदूर बोला- दिया था पैसों का लालच
वहीं दोनों बच्‍चों के पिता ने बताया की मौत की सूचना पुलिस को न देने के लिये रुपयों का लालच दे रहे थे।

पुलिस तक बात
इधर मुखबीरों के हवाले से जब जंसा पुलिस तक ये बात पहुंची तो थानाध्‍यक्ष भी चौंक उठे। उन्‍होंने तुरंत घटनास्‍थल पर पहुंचकर अपनी जांच शुरू कर दी। काफी मशक्‍कत के बाद जंसा पुलिस ने दोनों शवों को बरामद कर लिया। मृत दोनों बच्‍चे नाबालिग थे और अपने पिता के साथ मेहनत-मजदूरी किया करते थे।

बृहस्पतिवार को बच्‍चों के पिता बंशी ने भटठा मालिक बबलू पाठक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

थानाध्यक्ष जंसा हेमन्त कुमार सिंह ने बताया कि बबलू पाठक के खिलाफ 31/18 धारा 304(A) में मुकदमा दर्ज कर विवेचना की जा रही है। शव को कब्जे में लेकर पोस्‍टमार्टम के लिये भेज दिया गया है, पीएम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जायेगी। इधर भट्ठा मालिक बबलू पाठक ने घटना को दु:खद बताते हुए अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताया है।