इन नेताओं को महंगा पड़ा प्रधानमंत्री का अपमान करना, सिगरा पुलिस ने किया ‘इलाज’

बनारस। देश के प्रधानमंत्री और वाराणसी के सांसद नरेन्‍द्र मोदी का विरोध करना कांग्रेस सेवादल के नेताओं को भारी पड़ गया। विरोध प्रदर्शन के इस आपत्‍तिजनक तरीके को लेकर सिगरा पुलिस और कांग्रेस सेवादल के नेताओं के बीच काफी देरतक नोक-झोंक हुई। इसके बाद पुलिस ने चन्‍दुआ सट्टी के सामने से प्रदर्शनकारी नेताओं को हिरासत में ले लिया।

गौरतलब है कि संसद में कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी की ‘हंसी’ पर पीएम की टिप्‍पणी को लेकर वाराणसी के कांग्रेसी कुछ ज्‍यादा ही खफा हैं, जिसके बाद रविवार को कांग्रेस सेवा दल के कार्यकर्ता जिलाध्‍यक्ष हरीश मिश्रा के नेतृत्‍व में सड़क पर उतर गये। इस दौरान नेताओं ने पीएम मोदी की तुलना ”रावण” से करते हुए दस सिरों वाला एक पोस्‍टर लेकर नारेबाजी करते हुए भारत माता मंदिर तक मार्च निकालने लगे।

कांग्रेस सेवा दल के नेता इस पूरे दरम्‍यान सड़क पर ”नरेन्‍द्र मोदी मुर्दाबाद” के नारे लगाते रहे। वहीं कांग्रेसियों के इस आपत्‍तिजनक विरोध प्रदर्शन की सूचना मिलते ही मौके पर सिगरा पुलिस पहुंच गयी। पुलिस ने कांग्रेसियों से पोस्‍टर उन्‍हें सुपुर्द करने के लिए कहा, जिसे सेवादल के नेताओ ने देने से मना कर दिया।

इसके बाद पुलिसकर्मियों और कांग्रेस सेवादल के नेताओं के बीच चंदुआ सट्टी के सामने काफी देर तक नोक-झोंक हुई। बाद में पुलिस ने विरोध कर रहे सभी प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेकर थाने पहुंची।

इस संबंध में कांग्रेस सेवादल वाराणसी के जिलाध्‍यक्ष हरीश मिश्रा ने एक प्रेस विज्ञप्‍ति जारी कर बताया कि रेणुका चौधरी को नरेन्‍द्र मोदी जी के द्वारा ‘सूर्पनखा’ कहने का वे विरोध करते हैं। हरीश मिश्रा के अनुसार सेवादल के लोग भारतीय महिला के अपमान के खिलाफ प्रधानमंत्री का ”रावणरूपी” पोस्‍टर निकालकर तथा प्रतीकात्‍मक रूप में नाक काटकर महिला के अपमान का बदला लिया जायेगा।

यह भी बता दें कि कांग्रेस सेवा दल के जिलाध्‍यक्ष हरीश मिश्रा ने ही पिछले दिनों बीएचयू में प्रोफेसरों की नियुक्‍ति का मामला उठाते हुए पीएम के खिलाफ आपत्‍तिजनक पोस्‍टर और पर्चे लंका गेट पर बांटे थे।

VIDEO : कांग्रेस सेवादल नेता का आरोप, Police के दम पर Narendra Modi कर रहे हमारा दमन