बनारस। अपने एक दिवसीय प्रवास पर गुरुवार को काशी आये जर्मन राष्‍ट्रपति फ्रैंक वाल्‍टर स्‍टाइन मायर वापस लौट चुके हैं। जर्मन राष्‍ट्रपति ने पिछले शाम को वाराणसी की विश्‍व प्रसिद्ध गंगा आरती के दर्शन किये, इससे पहले उन्‍होंने अस्‍सी से दशाश्‍वमेध तक नौका विहार किया, बीएचयू में छात्रछात्राओं से रूबरू हुए और तो और भगवान गौतम बुद्ध की उपदेशस्‍थली सारनाथ में भी शीष नवाया।

काशी से लौटने से पहले स्‍टाइन मायर ने विजिटर बुक में काशी यात्रा से जुड़ी अपनी भावनाओं का इजहार भी किया। गुरुवार शाम मां गंगा की भव्‍य महाआरती देखने के बाद गंगा सेवा निधि के विज़िटर बुक में स्‍टाइन मायर ने लिखा है

विज्ञापन

”we Are deeply impressed by this wonderful ceremony. Thank You to much for your hospitality”

आपकी मेहमाननवाजी के लिए बहुतबहुत धन्‍यवाद, इस लाजवाब समारोह (गंगा महाआरती) ने हमें गहरे तक प्रभावित किया।

बता दें कि इससे पहले फ्रांसीसी राष्‍ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने भी काशी से फ्रांस लौटते वक्‍त अपनी भावनाओं का इजहार ट्विटर पर किया था। मैक्रों ने ट्विटर पर दो वीडियो पोस्‍ट करते हुए काशीवासियों का दिल से धन्‍यवाद किया था।

यह भी बताते चलें कि फ्रांसीसी राष्‍ट्रपति इमैनुअल मैक्रों और जर्मन राष्‍ट्रपति फ्रैंक वाल्‍टर स्‍टाइन मायर के बाद अब 26 मार्च यानी अगले सोमवार को ही भारत के राष्‍ट्रपति महोदय रामनाथ कोविंद का भी वाराणसी आगमन होने जा रहा है।

विज्ञापन
Loading...
वाराणसी का रहने वाला हूं। 2005 से पत्रकारिता के विभिन्‍न माध्‍यमों से जुड़ा हुआ हूं। टीवी, प्रिंट व वेब मीडिया में फील्‍ड और डेस्‍क का अनुभव है। जी न्‍यूज़, अमर उजाला, हिन्‍दुस्‍तान, ईनाडु इंडिया सहित विभिन्‍न संस्‍थानों से जुड़कर अपनी सेवाएं दे चुका हूं। 2013 में वाराणसी के सबसे पहले डेली न्‍यूज के डिजिटल वेब पोर्टल Live VNS की शुरुआत की है। वेब डिज़ाइनिंग, ग्राफिक्‍स डिज़ाइनिंग, डिजिटल मार्केटिंग, SEO, SEM, वीडियो एडिटिंग, सोशल मीडिया स्‍ट्रेटेजी/मार्केटिंग आदि सेक्‍टर में हाथ आजमाता रहता हूं। अभी पत्रकारिता के आधा गुण ही हैं मुझमें। सोशल मीडिया पर यहां मुझसे जुड़ें।