वाराणसी : दोस्त ही निकला दोस्त का कातिल, गला रेतकर की थी हत्‍या

0
37

बनारस। बीते कुछ दिनों से लापता चोलापुर थाना क्षेत्र के कटारी निवासी दिव्यांग युवक संतलाल पाल पुत्र स्व छेदी पाल का शव बिहार के कैमूर जिला के अघोरी थाना स्थित पहाड़ी क्षेत्र में बरामद हुआ। बताते चलें कि बीते 23 मार्च को उक्त दिव्यांग अपने एक दोस्त कमलेश वनवासी उर्फ प्रिंस पुत्र विजयी वनवासी निवासी कटारी चोलापुर के साथ चंदौली जिले में धान लेने अपने ट्रैक्टर ट्राली से गया था, लेकिन वापस नहीं आया। परिजनों द्वारा काफी खोजबीन के बाद भी जब उसका पता नहीं चला तब उन्होंने इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी।

चोलापुर पुलिस ने गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज कर छानबीन शुरू कर दिया था। इसी दौरान पुलिस को कैमूर बिहार के पहाड़ी क्षेत्र में एक अज्ञात युवक का शव मिलने की सूचना मिली। जिसपर तत्परता दिखाते हुए स्थानीय पुलिस ने बिहार पुलिस से सम्पर्क साधा और मृतक का फोटो व्हाट्सएप पर मंगाया गया। परिजनों ने उस फ़ोटो को देखकर उसकी शिनाख्त संतलाल पाल के रूप में किया। शिनाख्त के बाद परिजनों को लेकर पुलिस कैमूर पहुँची जहाँ शव का पोस्टमार्टम कराकर वाराणसी लाया गया।

शव के कुछ दूर पर ही एक मिल के पास ट्रेक्टर भी बरामद हुआ। परिजनों ने पुलिस को मृतक के दोस्त प्रिंस बनवासी के नाम लिखित तहरीर दिया। जिसके बाद पुलिस हत्यारे की तलाश में जुट गई। इसी बीच मुखबिर की सूचना पर वांछित अभियुक्त को कटहल गंज चौराहे से गिरफ्तार कर लिया गया।

पूछताछ में प्रिंस ने पुलिस को बताया कि वह संतलाल के ट्रैक्टर को लूटने के इरादे से अपने ससुराल ले गया जहाँ अपने एक दोस्त विश्राम बिंद के साथ मिलकर संतलाल की गला रेतकर हत्या कर दिया और शव को पहाड़ी में फेंककर फरार हो गया।