वाराणसी DRI ने पकड़ा करोड़ों का सोना, गिरफ्त में आये स्‍मग्‍लर उगल रहे आकाओं के नाम

0
31

बनारस। स्‍मग्‍लिंग के बड़े रैकेट का पर्दाफाश करते हुए डायरेक्‍ट्रेट ऑफ रेवेन्‍यू इंटेलिजेंस (DRI) वाराणसी, कोलकाता और लखनऊ की टीम ने करोड़ों रुपये की कीमत का तकरबीन 10 किलो सोना बरामद किया है। टीम ने इस मामले में मिजोरम के आइजोल निवासी दो तस्‍करों को गिरफ्तार किया है। मुखबिर की सूचना पर दोनों की गिरफ्तारी ब्रह्मपुत्र मेल से मुगलसराय स्‍टेशन पर की गयी है।

डीआरआई के टार्गेट पर बड़े स्‍मग्‍लर
तस्करी की गतिविधियों को तोड़ने के लिए डीआरआई इन दिनों बेहद एक्‍टिव हो चुका है। हाल के दिनों में डीआरआई ने नशीले पदार्थों और तस्करी वाले सोने के बड़े रैकेट को प्रभावित किया है।

ब्रह्मपुत्र मेल से मिला सोना
ब्रह्मपुत्र मेल से गिरफ्तार किये गये तस्‍कर चंग्लानज़ुआया और ललेंग्किमा को गिरफ्तार करने वाली टीम के अनुसार सोने का वजन 9.95 किलोग्राम है। 60 सोने के बिस्‍कुटों को जब्‍त करने में डीआरआई कोलकाता, डीआरआई वाराणसी, डिप्‍टी डायरेक्‍टर डीआरआई व डीआरआई लखनऊ की संयुक्‍त टीम ने इस बड़े मामले का पर्दाफाश किया है।

म्‍यांमार से भारत में हो रही स्‍मग्‍लिंग
टीम के अधिकारियों के अनुसार जब्त किए गए सोने के बिस्कुट म्यांमार से भारत में तस्करी किए गए थे और दिल्ली के लिए भेजे जा रहे थे। जब्त सोने का मूल्य लगभग 3.22 करोड़ रुपये है।

अपने आकाओं के नाम उगल रहे स्‍मगलर
पकड़े जाने के बाद नॉर्थ ईस्‍ट के दोनों ने अपने गिरोह के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी है, इसके बाद डीआरआई का खुलासा किया है। इसके बाद देश के कई हिस्‍सों में सक्रिय गिरोह के हार्डकोर सदस्‍यों की धर-पकड़ के लिये ऑपरेशन तेज कर दिया गया है।

इस टीम ने पकड़ा बड़ा रैकेट
गिरफ्तरी करने वाली टीम में सीनियर इंटेलिजेंस ऑफिसर एके राय, इंटेलिजेंस ऑफिसर लेख राज, हेड हवलदार श्याम बिहारी और ड्राइवर एलएन पांडे ने सक्रिय भूमिका निभायी है।