बनारस। चौकाघाट-लहरतारा पुल हादसे के तत्‍काल बाद निलम्‍बित किये गये प्रोजेक्‍ट मैनेजर के आर सूदन ने मीडिया के तीखे सवालों का सामना किया है। क्राइम ब्रांच की पूछताछ के बाद जब मीडिया ने के आर सूदन से सवाल पूछने शुरू किये तो उन्‍होंने खुद को पाक साफ बताते हुए यहां तक कहा कि हमने कोई पहली बार पुल नहीं बनाया है। उन्‍होंने ये भी कहा कि हवा की वजह से थ्रस्‍ट होता है जिससे कई बार डिस्‍प्‍लेस्‍मेंट आ जाता है।

निलम्‍बित प्रोजेक्‍ट मैनेजर ने इस बात से इनकार किया कि पिलर का स्‍प्रिंग फेल नहीं हुआ था। के आर सूदन के अनुसार कोई ना कोई ऐसी बात जरूर हुई होगी जिससे ये बड़ी घटना घटी है। उन्‍होंने कहा कि इसी की जांच हो रही है, जांच में सब सामने आ जायेगा।

विज्ञापन

प्रोजेक्‍ट मैनेजर के अनुसार जिस जगह घटना घटित हुई है वहां ट्रैफिक बहुत ज्‍यादा रहता है। हम लगातार प्रशासन को इस परेशानी के बारे में बता रहे थे कि हमें काम करने में दिक्‍कत हो रही है। निलम्‍बित अधिकारी ने ये भी माना कि जिला प्रशासन की ओर से उनकी बातें मानी भी जाती रही हैं। उन्‍होंने कहा कि हमारी ओर से सिक्‍योरिटी के मानक पूरे किये जाते रहे हैं और कोई लापरवाही नहीं बरती गयी है।

प्रोजेक्‍ट मैनेजर के अनुसार हवा की वजह से डिस्‍प्‍लेसमेंट हो जाता है, वो पता नहीं लगता है। हम लगातार साइट का निरीक्षण करने जाते रहे हैं, मुझे वहां कोई परेशानी नजर नहीं आयी। उनके अनुसार 55 टन वजनी स्‍पाईन में हवा की वजह से थ्रस्‍ट होता है। प्रोजेकट मैनेजर ने इस हादसे के पीछे किसी भी तरह की साजिश से इनकार किया है।

वाराणसी सेतु निगम के पूर्व प्रोजेक्‍ट मैनेजर ने कहा कि हम आज से ब्रिज नहीं बना रहे हैं और कोई लापरवाही नहीं हुई है। उन्‍होंने इस बात से भी इनकार कर दिया कि उस दिन उस स्‍पाइन में काम हो रहा था। उन्‍होंने कहा कि बाजू वाले स्‍पाइन बीम में काम हो रहा था। उन्‍होंने ये भी बताया कि दुर्घटना वाला स्‍पाइन ऊपर नहीं चढ़ाया गया था बल्‍कि उसे ऊपर ही बनाया गया था।

देखें वीडियो, मीडिया के सवालों पर क्‍या बोले निलम्‍बित प्रोजेक्‍ट मैनेजर के आर सूदन

विज्ञापन
Loading...