वाराणसी में योगी के मंत्री के बिगड़े बोल, BJP विधायक की कर दी ‘कुत्‍ते’ से तुलना

0
22

बनारस। विवादित बयानों को लेकर मीडिया की सुर्खियां बने रहने वाले योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर के बोल एक बार फिर पटरी से उतर गये हैं। राजभर शुक्रवार सुबह जयपुर यात्रा के बाद से तीन दिवसीय दौरे पर वाराणसी पहुंचे हैं। वाराणसी एयरपोर्ट पर Live VNS से बात करते हुए राजभर ने एक भाजपा विधायक की कुत्‍ते से तुलना करके नया बवाल खड़ा कर दिया है। यही नहीं राजभर ने बंगले में तोड़फोड़ के मामले में अखिलेश यादव का बचाव करते हुए उन्‍हें क्‍लीन चिट भी दे दी है।

बलिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह के ताज महल पर दिये बयान की तुलना कुत्ते के भौंकने से करते हुए यूपी के कैबिनेट मंत्री ने कहा कि ”कुछ कुत्ते ऐसे होते हैं, जिनका काम केवल भौंकना होता है”। बता दें कि हाल ही में सुरेंद्र सिंह ने ताज महल का नाम ‘राम महल’ करने की मांग की थी। ओम प्रकाश राजभर ने कहा, ”कुत्‍ते भोंकते हैं और हाथी चलता जाता है”।

सच बोलने से डरता नहीं हूं
यह पहली बार नहीं है जब ओम प्रकाश राजभर ने ऐसा विवादित बयान दिया हो। इससे पहले वे शराब पीने को लेकर यादवों और राजपूतों पर भी टिप्‍पणी कर चुके हैं जिसकी प्रदेश में जबरदस्‍त आलोचना हुई थी। वहीं राजभर ने हमसे बात करते हुए स्‍वीकार भी किया कि वे अकेले ऐसे व्‍यक्‍ति हैं जो सच बोलने का साहस रखते हैं। चाहे वो अपनी सरकार के खिलाफ ही क्‍यों ना हो। राजभर के अनुसार अगर कहीं गलत हो रहा है तो शोषण और अन्याय के खिलाफ आवाज उठाना भारतीय समाज पार्टी का कर्तव्य है।

अखिलेश का किया समर्थन
अखिलेश यादव के बंगले के विवाद पर भी कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया। उन्होंने इस विवाद को अखिलेश यादव को बदनाम करने की साजिश बताया है। राजभर के अनुसार चाहे कोई भी नेता हो, बंगला खाली करते समय ऐसी हरकत नहीं करेगा। अखिलेश यादव द्वारा मुख्‍यमंत्री के ओएसडी और प्रमुख सचिव का नाम इस विवाद में लिये जाने के मुद्दे पर राजभर ने कहा कि यह मामला अब पूर्व सीएम और वर्तमान सीएम का है, वे ही इसकी सच्चाई बता सकते हैं।

फ्री की चाय जरूर पियुंगा
यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें मायावती से गठबंधन में शामिल होने का ऑफर मिला है, राजभर बोले कि वे 2024 तक बीजेपी ले साथ रहेंगे। उन्होंने कहा कि अगर अखिलेश या मायावती उन्हें चाय पिलाने के लिए बुलाते हैं तो क्या गलत है? वे इस बात को हंसी में टालते हुए बोले कि फ्री में अगर अगर चाय मिले तो क्या दिक्कत है?

आजतक एक करोड़ नहीं देखे
अपनी पार्टी के अजगरा से विधायक कैलाश सोनकर पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप पर राजभर ने कहा कि किसी के आरोप लगा देने भर से कोई भ्रष्टाचारी नहीं हो जाता है। कैलाश सोनकर पर 600 करोड़ रुपये के घोटाला का आरोप लगा है। इस पर राजभर ने कहा कि उन्हें सरकार में रहते हुए 15 महीने हो गए हैं और उन्होंने अबतक एक करोड़ रुपया तक नहीं देखा तो 600 करोड़ की बात कहां से आ गयी।

बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष के लिये सुनाया कबीर का दोहा
यह पूछने पर कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय के समर्थक ही यह आरोप लगा रहे है, कहीं इसमें उनकी भूमिका तो नहीं? राजभर ने दार्शनिक अंदाज में एक दोहे से इसका जवाब दिया। उन्होंने कहा कि जाको राखे साइयाँ, मार सके न कोय, बाल न बांका कर सके, बैरी जग सारा होय।

मुझपर क्‍यों नहीं लगते आरोप
राजभर ने सीएम के प्रमुख सचिव के ऊपर लगे आरोप को भी निराधार बताया। वहीं उन्‍होंने संगीत सोम के ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोप पर पलट के जवाब दिया कि ऐसे आरोप मेरे ऊपर क्‍यों नहीं लगते हैं। उन्‍होंने कहा कि सांच को आंच नहीं होती।

देखें वीडियो, से बातचीत में क्‍या बोले कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर