काशी में आधी रात को गूंजा हर हर महादेव… हर हर मोदी

0
28

बनारस। देश के प्रधानमंत्री और वाराणसी के सांसद नरेन्‍द्र मोदी शनिवार देर रात अपने संसदीय क्षेत्र के जमीनी दौरे पर निकले। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और केंद्र तथा प्रदेश के बड़े अधिकारी इस जमीनी दौरे के वक्‍त पीएम के साथ रहे। कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री ने अपने प्रोटोकॉल में अचानक परिवर्तन करा के शहर का दौरा करने का निश्‍चय लिया। काशी की सड़कों पर प्रधानमंत्री का बनारसियों ने हर हर महादेव और हर हर मोदी के घोष से अभिवादन किया।

डीएलडब्‍लू से निकल पड़े
बनारस में प्रधानमंत्री का घर कहे जाने वाले डीरेका स्‍थित रेस्‍ट हाउस से पीएम मोदी अचानक रात होते ही लाव लश्‍कर के साथ शहर के जमीनी दौरे पर निकल पड़े। प्रधानमंत्री का काफिला ककरमत्‍ता गेट, भिखारीपुर तिराहा, नेवादा, सुंदरपुर होते हुए बीएचयू स्‍थित विश्‍वनाथ मंदिर पहुंचा।

पहली बार किसी पीएम ने किया बीएचयू विश्‍वनाथ मंदिर में दर्शन
प्रधानमंत्री ने यहां उतरकर भगवान शिव का दर्शन-पूजन किया। पीएम के साथ मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी मौजूद रहे। बताया गया कि पहली बार किसी प्रधानमंत्री और मुख्‍यमंत्री ने एशिया के इस सबसे विशाल शिव मंदिर कहे जाने वाले बीएचयू स्‍थित विश्‍वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन किया है।

बीएचयू विश्‍वनाथ मंदिर में पीएम मोदी और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के साथ बीएचयू की पहली महिला चीफ प्रॉक्‍टर प्रोफेसर रॉयना सिंह ।

शहर भर घूमे
इसके बाद प्रधानमंत्री का काफिला लंका गेट (सिंह द्वार) के रास्‍ते निकलता हुआ रविदास गेट के सामने से गुजरकर रविन्‍द्र पुरी की तरफ बढ़ा। प्रधानमंत्री गोदौलिया पहुंचे और फिर चौक की चढ़ाई चढ़ते हुए मैदागिन की ओर उनका काफिला बढ़ा। मैदागिन चौराहे से पीएम कबीरचौरा की ओर मुड़े, फिर लहुराबीर होते हुए कैंट पहुंचे। प्रधानमंत्री इसके बाद सीधे लहरतारा की ओर से डीएलडब्‍लू रेस्‍ट हाउस रवाना हो गये।

रोड शो नहीं था
पिछली बार विधानसभा चुनाव के वक्‍त प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी बनारस शहर और रामनगर में रोड शो कर चुके हैं। इस बार पीएम ने रोड शो नहीं किया। प्रधानमंत्री के निर्धारित प्रोटोकॉल से अलग और अचानक से बने इस कार्यक्रम को देखते हुए पीएम की सुरक्षा का जिम्‍मा संभालने वाली स्‍पेशल प्रोटेक्‍शन ग्रुप (एसपीजी) ने उन्‍हें पूरी तरह से सुरक्षा घेरे में रखा था। पीएम की सुरक्षा से किसी भी प्रकार का समझौता ना करते हुए एसपीजी ने प्रधानमंत्री के काफिले को शहर भर में घुमाया जरूर लेकिन पीएम की गाड़ी के शीशे पूरी तरह से बंद रहे।

मगर फिर भी कनेक्‍ट कर गये पीएम
खास बात ये रही कि पूरे लाव लश्‍कर वाले काफिले में शामिल पीएम की कार की भीतरी लाइट्स जला दी गयी थीं, ताकि बाहर से काशी वासी अपने सांसद और देश के प्रधानमंत्री को आसानी के साथ देख सके। प्रधानमंत्री भी कार के भीतर से बनारसियों का अभिवादन करते चल रहे थे। कभी वे हाथ जोड़ते तो कभी दोनों हाथ ऊपर उठाकर काशी के पारंपरिक अभिवादन का प्रतिउत्‍तर देते दिखे। पीएम की गाड़ी की स्‍पीड भी औसत से कम थी, जिससे वो लोगों से और लोग उन्‍ासे आसानी के साथ कनेक्‍ट सकें।

लगे हर हर महादेव के नारे
जाहिर सी बात है कि नरेन्‍द्र मोदी देर रात में भी बनारस की सड़कों पर घूमें और काशीवासी उनका अभिवादन ना करें, ऐसा नहीं हो सकता। प्रधानमंत्री का काफिला जिधर से भी गुजर रहा था, वहां सड़क के दोनों किनारे मौजूद लोगों खासकर युवाओं का हुजूम ‘हर हर महादेव…. हर हर मोदी’ का अभिवादन और जय घोष दोनों एक साथ लगा रहा था।

दरअसल…
प्रधानमंत्री के इस रात्रि भ्रमण का मुख्‍य उद्देश्‍य शहर में हो रहे बदलावों का जायजा लेना था। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 2017 में विधानसभा चुनाव से पहले बनारस में रोड शो कर चुके हैं। तकरीबन डेढ़ साल बाद एक बार फिर बनारस की सड़कों पर उतरे प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के साथ मुख्‍यमंत्री भी रहे। पीएम ने बनारस की सड़कों पर लगी हेरिटेज लाइट्स का जायजा लिया। इसके अलावा सभी प्रमुख बिल्‍डिंगों पर जलायी जा रही रंगीन लाइट्स का भी मुआयना किया।

देखिये वीडियो, देर रात अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी की सड़कों पर घूमे प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी

तेजी से बदलते शहर को देखा
शाम को राजातालाब की जनसभा में प्रधानमंत्री ने बनारसियों का आह्वान किया था कि अगले साल काशी में आयोजित होने जा रहे प्रवासी भारतीय दिवस के लिये तैयार हो जाएं। माना जा रहा है कि बनारस में प्रधानमंत्री का ये रात्रि दौरा मुख्‍य तौर पर स्‍वच्‍छता और सुंदरता को लेकर ही रहा। प्रधानमंत्री शहर को जनवरी 2019 में होने जा रहे प्रवासी भारतीय दिवस के लिये तैयार कर रहे हैं।

तेजी से बदल रहे शहर की कुछ तस्‍वीरें

बनारस को तैयार हो जाना चाहिए
बनारस में होने जा रहे अन्‍तरराष्‍ट्रीय स्‍तर के कार्यक्रम से पहले तेजी के साथ इस प्राचीन शहर को संवारने का काम चल रहा है। प्रवासी दिवस के मौके पर दुनियाभर में अपनी मेधा और मेहनत के बल पर बुलंदियों पर पहुंचे भारतवंशी बनारस आएंगे। इनमें अन्‍तरराष्‍ट्रीय स्‍तर के नेता, फिल्‍म अभिनेता, म्‍यूजिक बैंड, बिजनेसमैन और स्‍पोट्स से जुड़े लोग बनारस आ रहे हैं। ये हमारे वो प्रवासी भारतीय बंधु हैं जिनके पूर्वज कभी हिन्‍दुस्‍तान छोड़कर अन्‍य देशों में जाकर बस गये हैं।