EXCLUSIVE : ये क्‍या ! बिना सावधानी बरते फिर शुरू हुआ चौकाघाट फ्लाईओवर का काम

0
38

नारस। विकास कार्यों को 2019 से पहले तेजी से निपटाने की ऐसी हड़बड़ी है कि सुरक्षा मानकों को ताक पर रखकर एक बार फिर चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर के काम को शुरू कर दिया गया है। बीते 16 मई को वाराणसी में हुए निर्माणाधीन चौकाघाट-लहरतारा पुल हादसे के बाद इस पुल के निर्माण का कार्य रोक दिया गया था।

18 लोग गंवा चुके हैं जान
बता दें कि मई में हुए उस दर्दनाक हादसे में 18 लोग सरकारी लापरवाही के शिकार होकर अपनी ज़िंदगी खो चुके हैं, बावजूद इसके सेतु निगम के अफसरान जल्‍द से जल्‍द काम पूरा करने की जिद में एक बार फिर आम लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ करने में संकोच नहीं कर रहे।

सुरक्षा से फिर खिलवाड़
इस बात पर विशेष ध्‍यान दिला दें कि उस दुर्घटना के बाद हुई विभिन्‍न जांचों में घटना के लिये प्रथमदृष्‍टया यातायात विभाग पर आयी थी, क्योंकि कार्य के दौरान वहां किसी भी प्रकार का रुट डायवर्जन नहीं था, जो कि नियमतः होना चाहिए। एक बार फिर इस पुल का निर्माणकार्य शुरू हुआ है, पर हादसे से सबक लेने के बजाए यहां खतरनाक तरीके से कार्य हो रहा है और वो भी बिना रुट डायवर्जन के।

जीटी रोड पर रहता है हेवी ट्रैफिक
सोमवार को Live VNS ने रोडवेज बस अड्डे से पहले लापरवाही के साथ कार्य चलते देखा। यह कितना खतरनाक है, इसका अंदाज़ा नीचे दिये गये तस्वीरों से ही कोई भी लगा सकता है। खतरनाक ढंग से क्रेन के जरिये लोहे के भारी गाटर ऊपर से लाये जा रहे हैं, ऐसे में जरा सी चूक से बड़ी अनहोनी घट सकती है, क्योंकि इस रुट पर ट्रैफिक का अत्यधिक प्रेशर है और यातायात का डायवर्जन भी यहां नहीं है।

Live VNS जब इस पूरे मामले की तस्वीर उतराने लगी तो वहां पहुंचे सेफ्टी अधिकारी ने ऐसा करने से मना किया और खुद के भाई के एक प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान में होने की धौंस भी दी। हमने जब पूछा कि बिना रुट डायवर्जन के आप यह कार्य कैसे कर रहे हैं, तो उन्‍होंने लापरवाह ढंग से यह कहा-

”अगर कोई अनहोनी हुई तो हम देख लेंगे, हमारी गारण्टी है कुछ नहीं होगा।”

इतना ही नहीं जब हमने सेफ्टी अधिकारी से इस संबंध में बात की तो उन्‍होंने यह कहकर अपनी लापरवाही का परिचय दिया कि ”यह कोई खतरे की बात नहीं है।”

इस सम्बन्ध में जब Live VNS ने वाराणसी के यातायात पुलिस अधीक्षक सुरेश चंद्र रावत से बात की तो उन्‍होंने बताया कि सेतु निगम ने उनसे किसी भी प्रकार का रूट डायवर्जन नहीं लिया है, ना ही इस कार्य के लिए हमें कोई सूचना दी गयी है। एसपी ट्रॉफिक के अनुसार एक स्थानीय निवासी का फोन आया था कि सर अनहोनी हो सकती है, जिसपर अमल करते हुए हमने सेतु निगम के अधिकारियों को तत्‍काल कार्य रोकने का आदेश दिया है।

देखें EXCLUSIVE वीडियो