नारस। महामना की बगिया से पढ़कर आज पूरी दुनिया में अपनी मेधा का लोहा मनवाने वाले हार्ट स्‍पेशलिस्‍ट डॉक्‍टर ने नया कीर्तिमान रच दिया है। सरसुंदरलाल चिकित्‍सालय बीएचयू में पहली बार ट्रिपल वेसल बाई-पास सर्जरी के साथ साथ वॉल्‍व रिप्‍लेसमेंट का सफल ऑपरेशन हुआ है। ये ऑपरेशन दिल्‍ली मैक्‍स अस्‍पताल से यहां आये डॉ राहुल चंदोला के द्वारा सोमवार को किया गया।

सन 2000 में रहे बीएचयू के छात्र, आज दुनिया के मशहूर डॉक्‍टर
डॉ राहुल चंदोला के बारे में बताया गया कि वह साल 2000 में बीएचयू के इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज़ से डॉक्‍टरी की पढ़ाई करने के बाद कनाडा चले गये। वहां इन्‍होंने कार्डिक लंग ट्रांसप्‍लांट सर्जरी में 12 साल काम किया। डॉ राहुल चंदोला विश्‍व के जाने-माने कार्डिक सर्जन के तौर पर पहचाने जाते हैं।

विज्ञापन

बीएचयू अस्‍पताल के इतिहास में पहली बार
डॉ राहुल के अनुसार उन्‍होंने बीएचयू में अपनी मानद सेवा देकर विश्‍वविद्यालय के प्रति अपना कर्तव्‍य निभाया है। बता दें कि ट्रिपल वेसल बाई-पास सर्जरी के साथ वॉल्‍व रिप्‍लेसमेंट ऑपरेशन बीएचयू के इतिहास में पहली बार हुआ है। इसे ‘बीटिंग हर्ट सर्जरी’ के नाम से भी जाना जाता है। विशेष ध्‍यान दिला दें कि बीटिंग हर्ट सर्जरी भारत के कुछ चुने हुए डॉक्‍टर ही कर पाते हैं, क्‍योंकि ये ऑपरेशन बहुत जटिल माना जाता है।

महामना को बताया प्रेरणास्रोत
बीएचयू अस्‍पताल के इतिहास में इस ऑपरेशन को महान उपलब्‍धि माना जा रहा है, जिसे विश्‍वविद्यालय के पूर्व छात्र रहे डॉ राहुल चंदोला ने कर दिखाया। डॉ राहुल ने अपने इस काम का का प्रेरणास्रोत भारत रत्‍न महामना मदन मोहन मालवीय जी को बताया है। साथ ही अपने कार्य का श्रेय इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज़ के प्रोफेसर वीके शुक्‍ला और सरसुंदर लाल चिकित्‍सालय के मेडिकल सुप्रीटेंडेंट वीएन मिश्रा के प्रोत्‍साहन को दिया है।

हर महीने आएंगे डॉ राहुल चंदोला
बताया गया कि डॉ राहुल चंदोला अब महीने में दो बार दिल्‍ली से वाराणसी आकर अपनी मानद सेवा यहां के रोगियों को देंगे। इससे अब पूर्वांचल के मरीजों को दिल्‍ली, मुम्‍बई या मद्रास का चक्‍कर नहीं लगाना पड़ेगा।

इन डॉक्‍टरों ने निभाई महत्‍वपूर्ण भूमिका
इतिहास रचने वाले इस बेहद जटिल ऑपरेशन में डॉ अरविंद पांडेय का योगदान भी बहुत महत्‍वपूर्ण रहा और उन्‍होंने इस तरह के ऑपरेशन भविष्‍य में रेगुलर होने की उम्‍मीद जतायी है। ऑपरेशन करने वाली टीम में डॉ आलोक, प्रोफेसर रंजन, फिजीशियन डॉ धीरज किशोर और एनेस्‍थीसिया के डॉ मनमोहन श्‍याम भी अपनी टीम के साथ डटे रहे।

कल फिर होगा ऑपरेशन
डॉक्‍टरों के अनुसार तकरीबन आठ घंटे तक चला ये लंबा और कठिन ऑपरेशन पूर्णत: सफल रहा। पेशेंट का हर्ट फंक्‍शन अब इम्‍प्रूव कर गया है। डॉ राहुल के अनुसार महामना जी हम सबको आशीर्वाद दें कि भविष्‍य में भी हम उनकी प्रेरणादायी छत्रछाया में जटिल ऑपरेशन को पूरा करके अपने डॉक्‍टर होने का कर्तव्‍य पूरा कर सकें। डॉक्‍टरों के अनुसार बीएचयू के सीटीवीएस ओटी में 24 जुलाई को सुबह आठ बजे से पुन: बाईपास सर्जरी होनी है। इस ऑपरेशन को भी डॉ राहुल चंदोला और उनकी टीम के सदस्‍य ही पूरा करेंगे।

देखें ऑपरेशन का संक्षिप्‍त वीडियो (कृपया कमजोर दिल वाले ना देखें)

देखें ऑपरेशन से जुड़ी तस्‍वीरें (कृपया कमजोर दिल वाले ना देखें)

बनारस हिन्‍दू युनिवर्सिटी ने ट्वीटकर दी बधाई

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।