नारस। अपने दो दिसवीय दौरे पर वाराणसी पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी सोमवार शाम अचानक मंडुआडीह रेलवे स्‍टेशन पहुंच गये। एकाएक अपने बीच प्रधानमंत्री को देख स्‍टेशन पर मौजूद यात्री भी फूले नहीं समाये। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के साथ प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने इस दौरान विभिन्‍न प्‍लेटफॉर्म पर घूम-घूमकर व्‍यवस्‍था और यहां हो रहे निर्माण कार्य का जायजा लिया।

बता दें कि पूर्वोत्‍तर रेलवे के बड़े टर्मिनल स्‍टेशन के तौर पर डेवलप किये जा रहे मंडुआडीह स्‍टेशन का काया पलट मोदी सरकार के दौरान हो गया है। वहीं अब स्‍टेशन परिसर का बड़े पैमाने पर विस्‍तारीकरण किया जा रहा है। हाल ही में पूर्वोत्‍तर रेलवे के बडे अधिकारियों ने भी मंडुआडीह रेलवे स्‍टेशन का दौरा करते हुए ये संदेश दे दिया था कि प्रधानमंत्री अपने अगले दौरे के वक्‍त यहां आ सकते हैं।

विज्ञापन

देखें तस्‍वीरें

इधर सोमवार रात अचानक मंडुआडीह स्‍टेशन पहुंचे पीएम मोदी और प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने स्‍टेशन के विभिन्‍न हिस्‍सों में जाकर वहां का जायजा लिया। प्रधानमंत्री ने तकरबीन सभी प्‍लेटफॉर्म को चेक किया। पीएम ने इस दौरान स्‍वचलित सीढियां और सुंदरीकरण के लिये लगायी गयी लाइटिंग का भी निरीक्षण किया तथा रेलवे के अधिकारियों को विशेष निर्देश दिया।

वहीं प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को अपने बीच पाकर रेलवे स्‍टेशन पर मौजूद यात्री भी गदगद हो गये। पीएम ने सभी यात्रियों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया।

यह भी बता दें कि मुगलसराय का नाम बदलकर पं दीनदयाल उपाध्‍याय स्‍टेशन होने के बाद अब मंडुआडीह स्‍टेशन को भी नया नाम देने की सुगबुगाहट तेज हो गयी है। कहा जा रहा है कि बेहद भव्‍य रूप में तैयार हो रहे इस रेलवे स्‍टेशन को जल्‍द ही नया नाम ”बनारस” दिया जायेगा। यह भी बता दें कि देश के विभिन्‍न हिस्‍सों के लिये मंडुआडीह से ट्रेने संचालित हो रही हैं।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।