वाराणसी में बहन का साथ देना भाई को पड़ा महंगा, भगवा गमछाधारियों ने बेरहमी से पीटा

3
109

नारस। अक्सर देखा गया है कि भाई के साथ जा रही बहन के साथ छेड़खानी होती है तो भाई के विरोध पर उसकी पिटाई हो जाती है। ऐसा ही एक मामला वाराणसी के रोहनिया थानाक्षेत्र में भी प्रकाश में आया है।

रोहनिया थानाक्षेत्र के भीष्मपुर निवासी ऑटो चालाक को मनबढ़ युवकों ने राजातालाब में उस समय बेरहमी से पीटा जब वो अपनी बहन को लेकर जा रहा था। यह विवाद टेम्पो में बैठने को लेकर हुआ।

सुनील ने इस पूरे मामले की शिकायत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुरेश राव आनंद कुलकर्णी से की है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने इस समबन्ध में जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है।

बहन के सामने दी जातीसूचक गाली
इस सम्बन्ध में टेम्पो चालक सुनील ने बताया कि 2 अक्टूबर को अपनी बहन को लेकर दवा करवाने जा रहा था। उसी समय राजातालाब में कुछ मनबढ़ किस्म के लोग टेम्पो में बैठने लगे तो मैंने कहा कि सवारी नहीं ले जायेंगे हम अपनी बहन की दवा करवाने ले जा रहे हैं। इसपर उन्होंने हमें जाती सूचक शब्दों के साथ भद्दी भद्दी गालियां देनी शुरू की तो मैंने मना किया कि आप महिला के सामने गाली क्यों दे रहे हैं लेकिन वो लोग नहीं माने और धमकी दी की कलेक्ट्री फ़ार्म से राजातालाब तुम्हारा टेम्पो नहीं चलने देंगे।

लाठी से की बेरहमी से पिटाई
इसपर जब मैंने प्रतिरोध किया तो उक्त तीन मनबढ़ भगवा गमछा पहने युवकों ने मुझे लाठी से बेरहमी से मारापीटा कर हमारी दवा का तीन हज़ार रुपया भी छीन ले गए। हमारी बहन ने इस सम्बन्ध में थाना रोहनिया में नामजद रिपोर्ट पवन शर्मा निवासी राजातालाब, शुभम शर्मा निवासी राजातालाब, विक्की निवासी राजातालाब और गोलू निवासी राजातालाब के विरुद्ध नामजद एफआईआर दर्ज करवाई तो वहां छिनैती और एससी एसटी एक्ट में एफआईआर न दर्ज कर 323/504/506 आईपीसी की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया।

पुलिस बना रही समझौते के लिए दबाव
सुनील ने आरोप लगाया कि मनबढ़ लोग हमें अब जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। कह रहे हैं पुलिस को हमने मिला लिया है। वहीं सुनील ने आरोप लगाया कि राजातालाब चौकी का एक सिपाही इस मामले में लगातार समझौता करने का दबाव बना रहा है।

https://www.youtube.com/watch?v=4mL6H-5ixVI&feature=youtu.be

 

Comments are closed.