नारस। शहर के सभी पूजा पंडाल बनकर तैयार हो चुके है। सप्तमी तिथि को प्राण प्रतिष्ठा के बाद ये पूजा पंडाल दर्शन के लिए खुल जायेंगे। इसके साथ ही काशी का प्रसिद्द चार दिवसीय नवरात्र मेला शुरू हो जाएगा। इस बार देवी कहीं बाहुबली के किले में महिषासुर का मर्दन करती नज़र आएँगी तो कहीं अक्षरधाम मंदिर में सौम्य रूप में भक्तों को दर्शन देंगी।

विज्ञापन

नवरात्र के शुरू होते ही शहर भर में पूजा समितियां माता के आगमन की तैयारी में जुट गए थे। सोमवार को नवरात्र की षष्ठी तिथि पर सभी पूजा पंडालों में माता जगदम्बा की मूर्ती पहुँच गयी है। सप्तमी सभी पूजा पंडालों में चहल पहल देखि जा रही है। मुहर्त के अनुसार माता की विधिवत प्राण प्रतिष्ठा कर आज से शहर के सभी पूजा पंडालों के कपाट खोल दिए जायेंगे।

इस बार माता जगदम्बा का साथ बाबा शिव की नगरी काशी में स्वयं भगवान् शंकर करते नज़र आएंग या उनके गण। शहर की विभिन्न पूजा समितियों ने पाने पंडाल में भगवान् शंकर को भी स्थान दिया है। पंडाल में कहीं लाइट एन्ड साउंड सिस्टम एक साथ साथ माता शेरावाली महिषासुर का वध करती नज़र आ रही हैं। कहीं माता आत्महत्या कर रहे किसानों के संग खड़ी दिखाई दे रही हैं।

शहर के सभी पंडालों में मंगलवार को प्राण प्रतिष्ठा के बाद पंडाल के कपाट भक्तों के लिए खोल दिए जायेंगे, जिसके बाद शहर की सड़कों पर भक्तों का सैलाब माता के दर्शन को उमड़ेगा।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।