भाजपा पार्षद दल के नेता राजेश जायसवाल का निधन, सीने के संक्रमण के बाद बीएचयू में थे एडमिट

नारस। मिलनसार व्यक्तित्व के धनि और वार्ड नंबर 63 से भाजपा पार्षद और मिनी सदन में भाजपा पार्षद दल के नेता डाक्टर राजेश जायसवाल का गुरुवार की सुबह निधन हो गया । वो काफी दिनों से सीने में संक्रमण की वजह से अस्पताल में एडमिट थे। लोकसभा चुनाव के पहले वरिष्ठ भाजपा नेता के निधन से भाजपा में शोक की लहर फ़ैल गयी है।

नगर निगम उपचुनाव में जनता के द्वारा चुन के भेजे जाने के बाद डाक्टर राजेश जायसवाल एक बार फिर साल 2017 में वार्ड नंबर 63 से नगर निगम के मुख्य चुनाव में निर्वाचित हुए थे। उनके मिलनसार व्यक्तित्व की वजह से उन्हें भाजपा पार्षद दल का नेता मिनी सदन में बनाया गया था। सभी दलों के लोग उनका सम्मान करते थे। लम्बी बिमारी के बाद उन्होंने आज अपनी अंतिम सांस ली।

इस समबन्ध में शोक संवेदना प्रकट करते हुए महापौर जायसवाल ने डाक्टर राजेश की असमय मृत्यु को भाजपा और मिनी सदन की अपूरणीय क्षति बताया। उन्होंने कहा कि डाक्टर राजेश बहुत ही मिलनसार थे और सभी को एकजुट रखने की उनके अंदर क्षमता थी। वहीं कांग्रेस पार्षद दल के नेता सीताराम केशरी ने कहा कि डक्टर राजेश का जाना एक ऐसे अभिवावक का जाना है जो समय समय पर उचित सलाह देकर सदन की गरिमा और सदन में चल रहे कार्यों को आगे बढ़ाने में सहयोग करते थे। उनके जाने से मिनी सदन को क्षति पहुंची है।