तेल के अवैध खेल का वाराणसी पुलिस ने किया बड़ा खुलासा, 12365 लीटर पेट्रोल-डीजल बरामद

नारस। पेट्रोल-डीजल के टैंकर को गुप्‍त तरीके से काटकर उसमें से तेल की चोरी के बड़े खेल का रोहनियां पुलिस ने खुलासा किया है। पुलिस की छापेमारी में 12365 लीटर पेट्रोल-डीजल बरामद किया गया है। इस संबंध में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

वाराणसी पुलिस द्वारा अवैध शराब तस्करों और संदिग्ध व्यक्तियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के तहत रोहनिया पुलिस एवं जिला पूर्ति विभाग के अधिकारियों ने डीजल-पेट्रोल की चोर बाजारी करने के बड़े मामले का खुलासा किया है।

मुखबिर की सूचना पर ग्राम करनाड़ाड़ी, विकास खंड आराजी लाइन में श्‍याम लाल पटेल के मकान में छापेमारी की गयी। इस दौरान पुलिस को मकान के भीतर विभिन्‍न ड्रमों और गैलनों में रखा तथा घर के बाहर खड़े एक पिकअप, एक सूमो तथा एक टैंकर में रखा हुआ कुल 12 हजार 365 लीटर डीजल तथा पेट्रोल बरामद हुआ है।

पुलिस ने मौके से टैंकर चालक रामचन्द्र यादव, निवासी रामपुर थाना अल्लीपुर जनपद गया, बिहार व पिकअप चालक अरविन्‍द पटेल को गिरफ्तार कर लिया गया। पुछताछ में उसने बताया कि मुगलसराय डिपो से 12000 ली. डीजल लोडकर वह गोपीगंज, जनपद भदोही के लिए जा रहा था। रास्ते में ग्राम करनाड़ाड़ी जहां अवैध डीजल का काम होता है, वहाँ कुछ डीजल टैंकर में से निकाल कर बेचने के लिये उसने खड़ा किया था।

गिरफ्तार हुए पिकअप चालक अरविन्द पटेल ने बताया कि अवैध डीजल जो टैंकरो से निकाला जाता है, उन्‍हें इकट्ठा कर पिकअप के स्वामी विवेक उपाध्याय के बताये हुए स्थान पर पहुँचाया जाता है।

पुलिस ने इस मामले में मकान मालिक श्यामलाल पटेल, पिकअप स्‍वामी विवेक उपाध्याय, टैंकर चालक रामचन्द्र यादव, पिकअप चालक अरविन्द पटेल व अज्ञात के खिलाफ मुकदमा अपराध संख्‍या 701-18 धारा 3/7 आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत केस रजिस्‍टर्ड कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में चारों को गिरफ्तार करते हुए जेल भेज दिया है।

गिरफ्तारी व बरामदगी करने वाली पुलिस टीम में रोहनिया SHO पी आर त्रिपाठी, पृथ्वीराज क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी वाराणसी, श्याम मोहन सिंह पूर्ति निरीक्षक राजातालाब वाराणसी, शिवाश्रय सिंह पूर्ति निरीक्षक सदर वाराणसी, सब इंस्‍पेक्‍टर संजय कुमार सिंह, सब इंस्‍पेक्‍टर नीरज कुमार ओझा, सब इंस्‍पेक्‍टर सत्येन्द्र प्रताप सिंह, विवेक सिंह, संजीव यादव, चन्द्रप्रकाश सिंह, अच्छेलाल, रामदयाल कास्टेबल शामिल रहे।