वाराणसी में बोले अखिलेश- हम बनवाएंगे 10 स्‍टेडियम, पत्रकारों को घुमाने ले जाएंगे क्‍योटो

नारस। गोवर्धन पूजा समारोह में शामिल होने वाराणसी आये सूबे के पूर्व सीएम अखिलेश यादव देर शाम पूर्व दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री मनोज राय धूपचण्डी के आवास पहुंचे। यहां मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा के लिये धर्म राजनीति का रास्ता है और हमारे लिए धर्म, हमारी संस्‍कृति का अंग है। अखिलेश यादव ने लखनऊ के एकाना स्‍टेडियम का नाम बदलने को लेकर भी सरकार को आड़े हाथ लिया है।

पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने एकाना स्टेडियम पर बोलते हुए कहा कि ‘एकाना’ भगवान विष्णु का नाम है और आप (भाजपा) ने उसे अटल जी को समर्पित करते हुए एकाना को पीछे कर दिया, जबकि वो भगवान का नाम है। अखिलेश यादव ने सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि सरकार जल्‍दी से सुधर जाये क्‍योंकि भगवान के नाम के साथ इस तरह का खिलवाड़ ठीक बात नहीं है।

अखिलेश यादव ने मौजूदा सरकार से वाराणसी में एकाना स्टेडियम से भी बेहतरीन स्‍टेडियम बनाने की मांग करते हुए कहा कि वे चाहते हैं कि यहां अन्‍तरराष्‍ट्रीय स्‍तर का स्‍टेडियम बने जिसका नाम स्‍वर्गीय अटल जी के नाम पर रखा जाये। साथ ही अखिलेश यादव ने चुनावी वायदा भी कर दिया कि हमारी सरकार में वाराणसी सहित अन्य 10 जगहों पर इंटरनेशनल सपॉर्ट्स स्टेडियम बनाये जाएंगे।

सूबे की कानून व्यवस्था पर बोलते हुए सपा सुप्रीमों ने कहा कि भाजपा कानून व्यवस्था को लेकर धोखा दे रही है। वाराणसी में सोनारों के जेवर चोरी हो गए, जो आज तक नहीं मिले। लखनऊ से लेकर पूरे प्रदेश में कानून व्‍यवस्‍था का बुरा हाल है।

धर्म की राजनीति के सवाल पर कहा कि आप रिवाइंड करके देखें कि इसके पहले मैं कब गोवर्धन पूजा में आया था और रही बात राजनीति की तो हमारे घर मे धर्म का पालन होता है। हमारे घर मे जब खाना बनता है तो पता चल जाता है कि आज हमारी पत्नी का बृहस्पतिवार का व्रत है, या कभी कभी उनके कपड़ों से भी पता चल जाता है कि आज कौन सा दिन है। हम धर्म को धर्म की तरह देखते हैं भाजपा धर्म को राजनीति के लिए इस्तेमाल करती हैं।

वहीं वाराणसी में विकास को लेकर पूछे गये सवाल का उत्‍तर अपने ही अंदाज में देते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि मैंने क्‍योटो देखा है और हमारी सरकार बनने पर हम बनारस के पत्रकारों को लेकर क्‍योटो जाएंगे और उन्‍हें दिखाएंगे कि क्‍योटो कैसा होता है।

देखें वीडियो, वाराणसी में मीडिया से बातचीत में क्‍या बोले अखिलेश यादव