नारस। हिन्‍दुओं के सबसे पवित्र कार्तिक माह की पूर्णिमा तिथि पर कल यानी शुक्रवार को स्‍वर्गलोक के देवगण काशी की धरती पर उतर के दीपावली का महापर्व मनाएंगे। इसके लिये वाराणसी के 84 घाटों को स्‍थानीय नागरिकों, स्‍वयंसेवी संस्‍थाओं और सरकारी स्‍तर पर सजाया संवारा जा रहा है।

खत्‍म हुई इंतजार की घड़ियां
काशी के प्राचीन चार लक्‍खी मेलों से इतर पिछले दो दशक से देव-दीपावली का महापर्व भी बहुप्रतीक्षित उत्‍सव की श्रेणी में आ चुका है। बनारस ही नहीं देश-दुनिया के सैलानी इस महापर्व का बेसब्री से इंतजार करते हैं। वहीं वाराणसी के दशाश्‍वमेध घाट पर प्रतिदिन सुबह और शाम होने वाली मां गंगा की आरती का नजारा भी देव दीपावली की शाम बेहद अलौकिक सा हो जाता है।

विज्ञापन

दशाश्‍वमेध घाट पर दिन भर चली महाआरती की तैयारी
वाराणसी के सबसे प्रसिद्ध घाटों में से एक दशाश्‍वमेध घाट पर देव दीपावली को लेकर विशेष उत्‍साह देखने को मिल रहा है। गुरुवार को दिनभर यहां अगले दिन यानी शुक्रवार को होने वाली महा आरती सहित विभिन्‍न सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों के लिये के लिये तैयारियों को अंतिम रूप देने का क्रम देर शाम तक चलता रहा।

जुटा रहा स्‍वयंसेवी दल
बात चाहे महाआरती के विशाल पात्रों को तैयार करने की हो, घाटों को सुगंधित पुष्‍पों से सजाने-संवारने की हो या फिर हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी देश के अमर शहीदों की याद में इंडिया गेट और अमर जवान ज्‍योति की प्रतिकृति को तैयार करने की हो, दिनभर दशाश्‍वमेध घाट पर हलचल अन्‍य दिनों की अपेक्षा कुछ ज्‍यादा ही दिखायी दी। सुबह से ही गंगा सेवा निधि के अध्‍यक्ष सुशांत मिश्र और सचिव हनुमान यादव की अगुवाई में स्‍वयंसेवियों का दल पूरे उत्‍साह के साथ दशाश्‍वमेध घाट को ”नहला-धुलाकर” शुक्रवार की महाआरती के लिये तैयार करता दिखा।

बनारस आ रहे कई दिग्‍गज
बता दें कि शुक्रवार दशाश्‍वमेध घाट पर ना सिर्फ बॉलीवुड के एवरग्रीन स्‍टार अनिल कपूर मां गंगा की महाआरती का लाभ उठाने के लिये मौजूद रहेंगे। गंगा सेवा निधि की ओर से बताया गया कि शुक्रवार सुबह फिल्‍म स्‍टार अनिल कपूर वाराणसी पहुंच रहे हैं। देश के प्रधानमंत्री और वाराणसी के सांसद नरेन्‍द्र मोदी ने भी इस महाआरती में शामिल होने के लिये अपनी ओर से विशेषतौर पर केंद्रीय मंत्रीमंडल के अपने सहयोगी रेलमंत्री पियूष गोयल को वाराणसी भेजा है। गोयल भी शुक्रवार सुबह वाराणसी पहुंच जाएंगे, वहीं उनकी धर्मपत्‍नी गुरुवार शाम को ही बनारस पहुंच चुकी हैं। इसके अलावा उत्‍तर प्रदेश के राज्‍यपाल रामनाईक तथा मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी वाराणसी में देव दीपावली की दैवीय छटा के गवाह बनेंगे।

देखने लायक होगी दशाश्‍वमेध घाट की छटा
दशाश्‍वमेध घाट पर हर रोज गंगा आरती का आयोजन कराने वाली संस्‍था गंगा सेवा निधि हर साल देव दीपावली के विशेष पर्व पर मां गंगा की महा आरती का आयोजन करती है। इस बार देव दीपावली की शाम दशाश्‍वमेध घाट पर होने वाली आरती की छटा देखने लायक होगी। विश्व प्रसिद्ध गंगा आरती में इसबार प्रो. चन्द्रमौली उपाध्याय, पं. श्रीधर पाण्डेय व गंगा सेवा निधि के प्रमुख अर्चक्र आचार्य रणधीर के नेतृत्व में 21 ब्राह्मणों द्वारा भगवती माँ गंगा का वैदिक रीति से पूजन किया जायेगा।

दशाश्‍वमेध घाट पर जलेंगे 51 हजार दीप
श्री राम जनम योगी द्वारा शंखनाद से निधि के 21 ब्राह्मणों, दुर्गा चरण इण्टर कालेज की 42 कन्याओं जो रिद्धि-सिद्धि के रूप में ब्राह्मणों के साथ होंगी तथा श्री काशी विश्वनाथ डमरु दल के 05 स्वयं सेवकों द्वारा माँ भगवती की भव्य महाआरती आरम्भ होगी एवं 51 हजार दीपों से घाट व घाटों के भवनों का कोना-कोना जगमग हो उठेगा।

आयोजित होंगे कई सांस्‍कृतिक कार्यक्रम
सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शृंखला के अन्तर्गत प्रसिद्ध सरोद वादक पं0 शिवदास चक्रवर्ती, तबले पर कुबेरनाथ मिश्र के माध्यम से अमर संगीत विदुशी माता अन्नपूर्णा देवी को श्रद्धांजलि दी जायेगी।

तीनों सेना के स्‍थानीय अफसर भी रहेंगे मौजूद
देव दीपावली की शाम दशाश्‍वमेध घाट पर ”शहीदों को नमन” कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बॉलीवुड के स्टार अनिल कपूर भी मौजूद रहेंगे। सिर्फ इतना ही सेना के तीनों अंगों के स्थानीय ऑफिसर्स भी मौजूद रहेंगे और घाट पर निर्मित अमर जवान ज्योति की प्रतिकृति पर पुष्पचक्र अर्पित कर शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे।

इस बार भी शहीदों को समर्पित होगी देव दीपावली
इस संबंध में बात करते हुए गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत मिश्रा ने बताया कि हमने कारगिल विजय वर्ष से ही देव दीपावली की शाम को ”शहीदों को समर्पित” किया हुआ है। पिछले ढाई दशक से आध्यात्मिकता और राष्ट्रवाद के संकल्‍प के साथ समर्पित हमारी विश्व प्रसिद्ध भव्य देव-दीपावली महोत्सव इस बार भी राष्ट्र के अमर वीर योद्धाओं को समर्पित होगी।

NDRF की वाटर एम्बुलेंस और 150 वॉलिंटियर्स संभालेंगे सुरक्षा की कमान
सचिव हनुमान यादव ने बताया कि माँ गंगा की आरती के दौरान देश-विदेश से आये लाखों श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की दिक्कत न हो इसके लिए 3 एल.ई.डी. टी.वी. लगायी जायेगी व सुरक्षा की दृष्टि से संस्था द्वारा सी.सी.टी.वी. कैमरे भी लगाये जायेंगे।

अलर्ट रहेंगे डॉक्‍टर और एंबुलेंस
सहयोग की दृष्टि से भारत सेवा श्रम संघ के 50 स्वयं सेवक व गंगा सेवा निधि के 100 वालेन्टियर्स उपस्थित रहेगें तथा साथ ही राजकीय चिकित्सालय द्वारा चिकित्सकों की टीम व एम्बुलेन्स की व्यवस्था की गयी हैं। 11वीं वाहिनी एन.डी.आर.एफ. की तरफ से वटर एम्बुलेन्स की भी व्यवस्था की जायेगी।

देखें वीडियो

देखें तस्‍वीरें

विज्ञापन
Loading...