नारस। बॉलीवुड की मशहूर सिने तारिका मनीषा कोइराला रविवार को वाराणसी के दशाश्वमेध घाट पर गंगा सेवा निधि द्वारा दैनिक मां गंगा की महा आरती देखने के लिए पंहुचीं। इस दौरान उन्‍होंने वैदिक रीती रिवाज से मां गंगा का पूजन किया और अपने स्वास्थ्य को लेकर कामना की।

इस अवसर पर गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत मिश्र एवं सचिव सुरजीत सिंह ने मोमेंटो व अंगवस्त्रम तथा प्रसाद प्रदान करके मनीषा कोइराला का स्वागत किया।

विज्ञापन

वहीं मनीषा कोइराला को देखने के लिये घाट पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। सैकड़ों की संख्‍या में मौजूद लोगों ने मनीषा कोइराला का काशी के पारंपरिक अभिवादन ”हर हर महादेव” के महाघोष से उनका स्‍वागत किया। बता दें मनीषा कोइराला पिछले दो दिनों से वाराणसी में मौजूद हैं।

उन्‍होंने शनिवार को बाबा काशी विश्‍वनाथ, मां अन्‍नपूर्णा सहित विंध्‍याचल धाम में माता के दरबार में मत्‍था टेका है। मनीषा हाल ही में जानलेवा बीमारी कैंसर से उबरी हैं। वाराणसी में उन्‍होंने मोदी सरकार की ओर से कराये जा रहे विकास कार्यों का खुले दिल से स्‍वागत किया है।

एयर मार्शल सी हरि कुमार ने भी देखी गंगा आरती
वहीं रविवार को दशाश्वमेध घाट पर दैनिक माँ गंगा की महाआरती में परम विशिष्ट सेवा मैडल, अति विशिष्ट सेवा मैडल, विशिष्ट सेवा मैडल, वायु सेना मैडल से सम्मानित एयर मार्शल सी. हरि कुमार ने भी सपरिवार माँ गंगा का वैदिक रीति पूजन किया। इनके साथ में एयर कमोडोर किरण प्रकाश सिंह विर्क, एयर कमांडिंग ऑफिसर, 4 एयर फ़ोर्स सेलेक्शन बोर्ड, वाराणसी भी सपरिवार उपस्थित थे। इस दौरान गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत मिश्र व सचिव सुरजीत सिंह, हनुमान यादव ने उन्‍हें मोमेंटो तथा प्रसाद दिया।

देखें वीडियो, दशाश्‍वमेध घाट पर मनीषा कोइराला को देखने उमड़े फैन्‍स

देखें तस्‍वीरें,मनीषा कोइराला का स्‍वागत करते गंगा सेवा निधि के पदाधिकारीगण

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।