नारस। तीन राज्यों में सत्ता खोने के बाद भाजपा के नेता मीडिया को इस विषय पर बयान देने से बच रहे हैं। ऐसे में वाराणसी पहुंची सूबे की कैबिनेट मिनिस्टर रीता बहुगुणा जोशी ने इस हार पर खुलकर अपनी बात रखी है। मीडिया से बातचीत में उन्‍होंने कहा की मध्य प्रदेश में विपक्ष के भौकाल कि ”हम बीजेपी जीरो कर देंगे” को हमने तोड़ा है और हम वहीं हैं जहाँ थे। उन्होंने कहा कि छतीसगढ़ में हमारी सोच के अनुरूप परिणाम नहीं आये हैं, इसके लिए हम लोग मंथन करेंगे।

हमें 5 साल और मिलना चाहिए था
वाराणसी पहुंची सूबे की कैबिनेट मिनिस्टर रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि नतीजे हमारी उम्मीद से अलग गए हैं, लेकिन जिस तरीके से विपक्ष ने भौकाल बनाया था कि ”सूपड़ा साफ कर देंगे, जीरो कर देंगे”, आप देख सकते हैं कि 15 साल के शासन के बाद अगर हमें 41 परसेंट वोट मिले है, यानी हम वहीं बैठे हैं जहां पर थे। प्रदेश की जनता के दिलों में हमारा राज आज भी वैसा ही है, इसलिये हताश होने की आवश्यकता नहीं। अगर 5 साल जनता और देती तो अच्छा होता। इससे स्पष्ट होता है कि जनता ने सोचा कि हमने 15 साल इनको मौका दिया इस बार किसी और को मौका देकर देख लिया।

विज्ञापन

विपक्ष अपना कार्यकाल देखे, हम करेंगे हार पर मंथन
रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि छत्तीसगढ़ के फैसले से हम थोड़ा चिंतित हैं इसलिए मूल्यांकन होगा, क्योंकि रमन सिंह ने वहां काम बहुत अच्छा किया और करवाया था। उन्होंने कहा कि जहां तक विपक्ष का प्रश्न है, तो विपक्ष ने जो बातें कही थीं, वह अपने पिछले कार्यकाल को देख ले।

5 साल साथ नहीं रह सकता विपक्ष
रीता बहुगुणा जोशी ने महागठबंधन के सवाल पर कहा कि ये लोग कभी 5 साल एक साथ रह नहीं सकते। सपा बसपा दोनों की निगाहें एक ही वोट बैंक पर हैं और सबसे बड़ी बात ये कि महागठबंधन का चेहरा कौन होगा, पहले उन्‍हें यह साफ करना चाहिए।

2019 पर नहीं पड़ेगा प्रभाव
यूपी की पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने इस बात से इनकार किया कि 2019 के चुनाव पर मध्‍य प्रदेश, राजस्‍थान और छत्‍तीसगढ़ के चुनावों के नतीजों का कोई खास असर पड़ेगा। रीता बहुगुणा जोशी के अनुसार, ”2019 में राष्ट्रीय स्तर का चुनाव होना है, आप सब जानते हैं जिस तरीके का चुनाव निकाय का होता है वैसा प्रदेश का नहीं होता और जैसा प्रदेश का होता है, वैसा राष्ट्र का नहीं होता। राष्ट्र के चुनाव में जनता यह देखती है कि कौन सी पार्टी, कौन सा नेता, देश को आगे ले जा सकता है। 1952 से आज तक के राष्‍ट्रीय चुनाव देख लीजिए, नेतृत्व कौन करेगा जनता ने इसी मुद्दे पर वोट किया है।”

घबराया हुआ है विपक्ष
रीता बहुगुणा जोशी ने ये भी जोड़ा कि प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बेहतरीन काम किया है। हम और ज्यादा मेहनत करेंगे। सारा विपक्ष एकजुट है, एक खाने में बैठ रहा है। इसका मतलब वो लोग घबराए हुए हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह से प्रधानमंत्री जी देश को आगे ले जा रहे हैं, वो दस सालों तक देश का सर्वांगीण विकास करते रहेंगे।

विज्ञापन
Loading...