नारस। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के एक दिवसीय दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान वो 298 करोड़ की सौगात बनारस और देश की जनता को सौंपेंगे, जिसमे सबसे अहम होगा अंतरराष्ट्रीय चावल अनुसन्धान केंद्र के एशिया सेंटर का उद्घाटन।

इस दौरे को लेकर शुक्रवार को डमी रिहर्सल किया गया। प्रधानमंत्री के 16वें दौरे पर उनकी सुरक्षा के लिए 6 हज़ार जवानों का घेरा बनाया गया है। एडीजी ज़ोन पीवी रामशास्त्री की अगुआई में पुलिस लाइन में आज पुलिस ब्रीफिंग भी हुई ।

विज्ञापन

शुक्रवार को प्रधानमंत्री के दौरे के अनुसार उनकी फ्लीट और वायुसेना के हेलीकाप्टर ने डमी रिहर्सल किया। प्रधानमंत्री 29 दिसमबर को गाजीपुर में सुहेलदेव राजभर पर आधारित डाक टिकट जारी करने के बाद हेलीकाप्टर द्वारा वाराणसी के भुल्लनपुर पीएसी ग्राउंड के हेलीपैड पर उतरेंगे, जहां से सड़क मार्ग द्वारा चांदपुर स्थित अंतरराष्ट्रीय चावल अनुसंधान केंद्र जायेंगे और उसको देश को समर्पित करेंगे।

यहाँ से प्रधानमंत्री वापस सड़क मार्ग द्वारा भुल्लनपुर पीएसी ग्राउंड से हेलीकाप्टर द्वारा बड़ा लालपुर स्थित ट्रेड फेसिलिटी सेंटर पहुंचेंगे और ओडीओपी समिट में हिस्सा लेंगे और यहीं से कई लोक कल्याणकारी योजनाओं को बनारस को समर्पित करेंगे। इस दौरान वो काशी के हस्तशिल्पियों से सीधा संवाद भी करेंगे।

प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए स्थानीय प्रशासन के मुताबिक़ 10 एसपी, 15 एएसपी, 28 डिप्‍टी एसपी, दो सौ सब इंस्‍पेक्‍टर, 1900 सिपाही, चार कंपनी पीएसी और पांच कंपनी सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स समेत अन्य एजेंसियों के अधिकारियों की तैनाती रहेगी।

जिला प्रशासन की ओर से बाबतपुर एयरपोर्ट पर एसडीएम पिंडरा, भुल्‍लनपुर पीएसी ग्रांउड हेलीपैड पर एसडीएम राजातालाब, हेलीपैड से चावल अनुसंधान संस्‍थान के बीच सहायक निदेशक बचत, अनुसंधान संस्‍थान पर एडीएम प्रशासन और ट्रेड फसिलटी सेंटर में सीडीओ गौरांग राठी सहित अन्‍य अधिकारियों को जिम्‍मेदारी दी गई है।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।