कुम्भ को प्लास्टिक मुक्त करने के लिए कपडे के थैले बांटेगी विद्यार्थी परिषद

विज्ञापन

नारस। 14 जनवरी से प्रयागराज में लगने वाले कुम्भ को प्लास्टिक मुक्त करने के लिए पप्रदेश सरकार सारे प्रयास कर रही है। इसी बीच अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् ने भी कुम्भ को प्लास्टिक मुक्त करने का बीड़ा उठाया है। इस संबंध में वाराणसी में विद्यार्थी परिषद् के काशी प्रांत अध्यक्ष डॉ अखिलेश पांडेय ने बताया कि विद्यार्थी परिषद् के आयाम SFD  के अंतरगत हमने ‘पालीथीन मुक्त कुम्भ’ की योजना बनाई है। हम कुम्भ में आने वालों को कपडे के थैले बाटेंगे।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के काशी प्रान्त अध्यक्ष और मंत्री ने वाराणसी में एक संयुक्त पत्रकार वार्ता की। इस दौरान उन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के 64वे राष्ट्रिय अधिवेशन में छात्रहित में रखे गए प्रस्तावों के बारे में चर्चा की।

विज्ञापन

इस दौरान काशी प्रान्त के अध्यक्ष डॉ अखिलेश पाण्डेय ने बताया कि प्रयागराज में कुम्भ मेले को सफल बनाने में विद्यार्थी परिषद् भी योगदान देगा। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के अपने आयाम SFD के अंतर्गत ‘पालीथीन मुक्त कुम्भ’ की एक वृहद् योजना बनाई गई है। इस योजना के अंतर्गत मेले में आने वाले जनमानस को कपड़े का थैला दिया जायेगा ताकि कुम्भ में प्लास्टिक इस्तेमाल न होने पाए।

विद्यार्थी परिषद् के काशी प्रांत मंत्री सुधांशु शेखर ने बताया कि गुजरात के कर्णावती में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का 64 वां राष्ट्रीय अधिवेशन 27 से 30 दिसम्बर 2018 को सम्पन्न हुआ, जिसमें काशी प्रान्त से 104 प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया और देश भर से लगभग 4000 कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। इस राष्ट्रीय अधिवेशन में 4 प्रमुख प्रस्ताव पारित किए गए, जिसमे भारत के सर्वांगीण विकास में आने वाली चुनौतियों को लेकर सभी ने अपनी चिंता जताई और शिक्षा के क्षेत्र में माओवादी प्रचार प्रसार को रोकने की आवश्यकता पर बल दिया

डॉ अखिलेश पाण्डेय ने बताया कि हमने शिक्षा के सभी क्षेत्र में यूजी पीजी लेवल की परीक्षा को जो सेमेस्टर वाइज़ कराया जा रहा है उसे तुरंत बंद किया जाए और वर्ष में केवल एक बार परीक्षा ली जाए का प्रस्ताव रखा .

विज्ञापन