नारस। 21 से 23 जावरी तक वाराणसी में होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस सम्मलेन की तैयारियां अपनी अंतिम दौर में हैं। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपने दौरे पर प्रवासियों को भारत के साथ साथ काशी की सभ्यता और संस्कृति से रूबरू कराने की बात कही थी। इसी लक्ष्य को आगे बढ़ाते हुए अब प्रवासी भारतीयों को काशी की महान विभूतियों के जीवन से परिचय कराने की तैयारी चल रही है।

प्रवासी भारतीय दिवस सम्मलेन के लिए बड़ा लालपुर स्थित हस्तकला संकुल, टेंट सिटी ऐढ़े और बड़ालालपुर स्टेडियम में तैयारियां चल रही है। प्रवासी भारतीय सम्मेलन में आने वाले प्रवासी भारतीयों को काशी की महान विभूतियों के व्यक्तित्व और उनके किये गए कार्यों को प्रदर्शनी के ज़रिए बताया जाएगा। इसके लिए तीनों ही कार्यक्रम स्थलों पर तैयारियां चल रही है।

विज्ञापन

काशी की महान विभूतियों में संत कबीर दास, रानी लक्ष्मीबाई, पंडित मदन मोहन मालवीय, आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी, भारतेंदु हरिश्चंद्र, जयशंकर प्रसाद, प्रेमचंद, उस्ताद बिस्मिल्लाह खां, पंडित रविशंकर, अयोध्या सिंह उपाध्याय और रामचंद्र शुक्ल जैसी शख्सियत शामिल हैं, जिनके बारे में प्रवासियों को बताया जाएगा। उनके संघर्ष की गाथा और उनकी उपलब्धियों के साथ समाज में योगदान को प्रदर्शनी में दर्शाया जाएगा। इस दौरान वहां एक गाइड भी नियुक्त होगा जो महान विभूतियों के बारे में बताएगा।

विज्ञापन
Loading...