BHU में दो दिवसीय कांन्फ्रेंस NCMED-2019 का हुआ शुभारंभ, जुटे देशभर के सीनियर साइंटिस्‍ट्स

विज्ञापन

नारस। बीएचयू के भौतिकशास्त्र विभाग और महिला महाविद्यालय के तत्वाधान में दो दिवसीय कांन्फ्रेंस NCMED-2019 का मंगलवार को शुभारंभ किया गया। इसमें देश के विभिन्न शहरों के वरिष्ठ वैज्ञानिक उपस्थित रहे। इस सम्मेलन का उद्येश पदार्थ विज्ञान में हो रहे नये अविष्कारों के विषय में चर्चा करना है। सम्मेलन के संयोजक प्रोफेसर भास्कर भट्टाचार्य और प्रोफेसर नीलम श्रीवास्तव हैं।

विज्ञापन

सम्मेलन का उद्घाटन काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफसर राकेश भटनागर ने किया एवं विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर राजेन्द्र प्रसाद (कुलपति उत्तर प्रदेश राज्य विश्वविद्यालय) रहे।

समाज के बेहतरी के लिए हो शोध
कुलपति प्रो राकेश भटनागर ने अपने उद्बोधन में कहा कि सही अर्थों में विज्ञान के क्षेत्र में तरक्की तभी सम्भव है जब विज्ञान की परम्परागत सीमाओं से बाहर निकलकर नये सोच के साथ शोध किया जाए, जहां कई विषयों के ज्ञान को समाहित किया जाए, जिससे समाज के लिए कुछ उपयोगी शोध को बढ़ावा मिल सके।

उद्घाटन समारोह के विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर राजेन्द्र प्रसाद, कुलपति उत्तर प्रदेश राज्य विश्वविद्यालय प्रयागराज, ने विज्ञान के विभिन आयामों जिसमें पॉलीमर, कम्पोजिट, नैनो, क्रिस्टल क्वांटम डॉट्स इत्यादि का वर्णन किया और उनकी उपयोगिता के विषय पर जानकारी दी।

उन्होंने सोलर सेल में इस्तमाल होने वाले कृत्रिम परमाणु, जो रंग उत्सर्जन करते हैं के विषय में जानकारी दी। उन्होंने बताया की ऐसे शोध कार्यों को बढ़ावा मिलना चाहिए जो कि मानव के स्वास्थ को बिना नुकसान पहुंचाए तरक्की का रास्ता दिखाए, जिन शोधों से मानव को नुकसान पहुंचे वो तरक्की किसी काम की नहीं।

प्रधानाचार्या प्रोफेसर चन्द्रकला त्रिपाठी जी ने समारोह में उपस्थित लोगों का स्वागत किया और कहा कि इसे संस्थान के आचार्य एवं छात्राएं दोनो ही लाभान्वित होते हैं। प्रधानाचार्या ने प्रोफेसर नीलम श्रीवास्तव और प्रोफेसर भास्कर भट्टाचार्य को सफल आयोजन की शुभकामनाएं दीं।

दिन भर चले कार्यक्रम में प्रोफेसर उदयन डे (जादवपुर विश्वविद्यालय) ने प्रदार्थ विज्ञान में हो रहे स्वदेशी उत्पादन पर जोर दिया। प्रोफेसर एस एस भोगा (नागपुर विश्वविद्यालय) का उद्बोधन सॉलिड स्टेट फ्यूल सेल के लिए इस्तमाल होने वाले एलेक्ट्रोड़ के विषय में बताया।

वहीं प्रोफेसर राजीव प्रकाश (आईआईटी काशी हिन्दू विश्वविद्यालय) ने सम्मेलन में अपना विशष्ट वक्तव्‍य दिया, जिसमें उन्होंने बताया कैसे नैनो कण के उपर पॉलीमर की परत चढ़ा कर उनके व्यवहार में विभिन प्रकार कर परिवर्तन किया जा सकता है।

विज्ञापन