नारस। चेयरमैन रेलवे बोर्ड विनोद कुमार यादव ने गुरुवार 10 जनवरी को कुम्भ मेला 2019 को देखते हुए प्रयागराज एवं स्थानीय स्टेशनों का निरीक्षण किया। इसके बाद पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल के इलाहाबाद सिटी स्टेशन से मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन तक उन्‍होंने विण्डो ट्रेलिंग करते हुए विकास कार्यों एवं यात्रियों की संरक्षा (सेफ्टी) व सुरक्षा (प्रोटेक्‍शन) व्यवस्था का निरीक्षण करते हुए शाम को मंडुवाडीह स्‍टेशन पहुंचे।

मंडुआडीह स्‍टेशन के नये भवन का किया निरीक्षण
चेयरमैन ने मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन पर चल रहे विकास कार्यों का गहन निरीक्षण किया। उन्होंने मंडुवाडीह स्टेशन पर यात्री सुख सुविधाओं के कार्यों यथा– सेकेण्ड इंट्री, नये स्टेशन भवन, सर्कुलेटिंग एरिया, सुंदरीकृत तालाब, धरोहर के रूप में सज्जित छोटी लाइन के इंजन, यात्री हाल, नए फुट ओवरब्रिज, लिफ्ट, एस्केल्टर सीढियों, प्लेटफॉर्म संख्या- 4, 5, 6 एवं 8 के निकास एवं प्रवेश मार्ग, प्लेटफार्मों पर पाथ-वे, द्वितीय प्रवेश द्वार एवं सर्कुलेटिंग एरिया में किये गए विकास कार्यो, प्लेटफार्म पर वाशिंग, शुद्ध पीने के पानी की व्यवस्था, दो जोड़ी स्वचालित सीढ़ियों एवं दो अदद लिफ्ट के प्राविधानों और वीआईपी प्रतीक्षालय एवं नये स्टेशन भवन के निर्माण पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए अफसरों की तारीफ की।

उन्होंने स्टेशन के पश्चिमी छोर पर सेकेण्ड एंट्री प्रोजेक्‍ट के अंतर्गत नये प्लेटफार्मों के निर्माण, सर्कुलेटिंग एरिया के विस्तार, नए भूकम्परोधी स्टेशन भवन, यात्री प्रतिक्षालय, टिकट काउंटर एवं अन्य स्टालों के निर्माण, फुट ओवरब्रिज के विस्तारीकरण, सीक एवं स्टेबलिंग लाइन के निर्माण कार्य, अतिरिक्त आईलैंड प्लेटफार्म के निर्माण एवं सभी प्लेटफार्मों पर गाड़ियों में पानी भरने की सुविधा हेतु चल रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया।

ये संबंधित खबर जरूर पढ़ें : एयरपोर्ट लुक के साथ लोकार्पण को तैयार है वाराणसी का मंडुआडीह रेलवे स्टेशन

उन्होंने मंडुवाडीह स्टेशन के नये यार्ड डाईग्राम का भी गहन अध्ययन किया और सभी कार्यों को मानक के अनुरूप पूरी गुणवत्ता के साथ लक्ष्यावधी में ही पूर्ण करने का निर्देश दिया। इस दौरान चेयरमैन रेलवे बोर्ड विनोद कुमार यादव एवं महाप्रबंधक पूर्वोत्तर रेलवे राजीव अग्रवाल ने नवनिर्मित सर्कुलेटिंग एरिया में वृक्षारोपण भी किया।

मंडुआडीह स्‍टेशन पर निरीक्षण करते अधिकारीगण

इसके पूर्व उन्होंने अपने निरीक्षण यान से विंडो ट्रेलिंग निरीक्षण करके इलाहबाद से मंडुवाडीह तक के सभी स्टेशन सेक्शनों एवं ब्लाक खण्डों के रेलवे ट्रैक की स्पीड लिमिट का ट्रायल कर उसके संरक्षा मानकों को परखा। इसके अतिरिक्त उन्होने इस खण्ड के रेल पथ पर ब्लैंकेटिंग आपूर्ति, फार्मेशन के कार्य, बैलास्ट फैलाई, रेलपथ जड़ाई तथा इस खण्ड में पड़ने वाले मेजर एवं माइनर पूलों का गहन निरीक्षण किया।

जरूर पढ़ें : मंडुआडीह से भी भव्‍य बनेगा कैंट स्‍टेशन का सेकेंड इंट्री गेट ! रेलवे खर्च करेगा सवा 2 सौ करोड़ ₹

मंडुआडीह स्‍टेशन पर निरीक्षण करते अधिकारीगण

इस अवसर पर उनके साथ महाप्रबंधक पूर्वोत्तर रेलवे राजीव अग्रवाल, मंडल रेल प्रबंधक पूर्वोत्तर रेलवे, वाराणसी एस.के. झा, मंडल रेल प्रबंधक उत्तर रेलवे सतीश कुमार, अपर महाप्रबंधक पूर्वोत्तर रेलवे आनंद प्रकाश, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी निर्माण सुधांशु शर्मा, मुख्य विद्युत इंजीनियर बेचू राय, मुख्य परिचालन प्रबंधक अलोक सिंह, प्रिंसपल चीफ इंजीनियर पी.डी.शर्मा, प्रिंसिपल मुख्य सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर श्रीकान्त सिंह, अपर मंडल रेल प्रबंधक (इंफ़्रा) वी.के. , वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक रोहित गुप्ता, वरिष्ठ मंडल इंजीनियर (समन्वय) अजय वार्ष्णेय, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक आर.सी.श्रीवास्तव, वरिष्ठ मंडल विद्युत इंजीनियर एम के सिंह, वरिष्ठ मंडल सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर आशुतोष पाण्डे, सहायक कमांडेंट रेलवे सुरक्षा बल दया राम सहित वरिष्ठ पर्यवेक्षक एवं निरीक्षक उपस्थित थे।

मंडुआडीह स्‍टेशन पर वृक्षारोपण करते अधिकारीगण
मंडुआडीह स्‍टेशन पर वृक्षारोपण करते अधिकारीगण
मंडुआडीह स्‍टेशन पर निरीक्षण करते अधिकारीगण
मंडुआडीह स्‍टेशन पर निरीक्षण करते अधिकारीगण
मंडुआडीह स्‍टेशन पर निरीक्षण करते अधिकारीगण
मंडुआडीह स्‍टेशन पर निरीक्षण करते अधिकारीगण
मंडुआडीह स्‍टेशन पर निरीक्षण करते अधिकारीगण