नारस। रामचंदीपुर गांव के सामाजिक कार्यकर्ता सुनील कुमार यादव ने बुधवार को जिलाधिकारी को प्रेषित शिकायती पत्र मे कहा कि ढाब क्षेत्र के रामचंदीपुर मे मिट्टी व बालू का अवैध खनन धड़ल्ले से किया जा रहा है और शहर तक बालू व मिट्टी को बेंचा जा रहा है।

आरोप : खनन विभाग के कर्मचारी हैं लिप्त
पत्र मे लिखा गया है कि जिला खनन अधिकारी को सूचना देने व खनन मे लिप्त लोगों का नाम बताने के बाद भी उनके द्वारा कोई कार्रवाई नही की जाती है।

आरोप : विभाग के लोग कर रहे है मुखबीरी
सुनील का कहना है कि जिला खनन विभाग के कार्यालय मे कोई ऐसा कर्मचारी है जो मेरी द्वारा की गयी शिकायतो की जानकारी खनन मे लिप्त लोगों तक पंहुचाता है जिससे जिला खनन अधिकारी के खनन स्थल पर पंहुचने के पहले ही खनन मे लिप्त लोग मौके से हट जाते है।

शिकायत कर्ता का आरोप है कि खनन विभाग के कार्यालय के कर्मचारी व खनन माफियाओ के साथ गठजोड़ होने कारण खनन मे लिप्त लोगों पर कोई ठोस कार्रवाई नही हो पा रही है। शिकायती पत्र मे कहा गया है कि यदि अवैध खनन पर रोक नही लगायी गयी तो ढाब क्षेत्र का अस्तित्व खतरे में पड़ जायेगा।

की जांच की मांग
उन्होंने जिलाधिकारी को प्रेषित पत्र मे ढाब क्षेत्र के रामपुर, रामचंदीपुर, गोबरहाँ, रेता पार व मोकलपुर गांव में हो रहे कथित अवैध मिट्टी व बालू के खनन की गोपनीय जांच उपजिलाधिकारी सदर वाराणसी से कराये जाने का अनुरोध किया है, जिससे अवैध खनन पर रोंक लगायी जा सके।