‘श्री श्री गीता सोसाइटी’ ने गरीबो को कंबल वितरण करके मनाया अपना प्रथम स्थापना दिवस 

विज्ञापन
नारस। भारत समेत सम्पूर्ण विश्व के जनमन को भारतीय सांस्कृतिक एवं आध्यात्मिक चिन्तन-ज्ञान-विचार के प्रति प्रखरता से उद्वेलित करते हुए आध्यात्मिक जीवन का नवसृजनात्मक अलोक प्रकट करने वाले स्वामी विवेकानंद जी के जन्मदिन के अवसर पर हम सबके सम्मिलित सुप्रयासों द्वारा नवरचित एवं पंजीकृत हुई संस्था “श्री श्री गीता सोसाइटी” का आज प्रथम स्थापना दिवस स्वास्थ्य केंद्र परिसर,रमना, त्रिमुहानी, वाराणसी में एक वृहत आयोजन के साथ सम्पन्न हुआ।
गरीबो में बांटा कंबल 
 इस भव्य आयोजन में स्वामी विवेकानन्द जी का जन्मदिन मनाने के साथ साथ अनेक संस्कृतिक कार्यक्रम भी सम्पन्न किए गए। संस्था के इस प्रथम स्थापना दिवस के आयोजन में जरूरतमन्दों के लिए लगभग 200 वस्त्रों का प्रत्यक्ष दान भी किया गया।
 इस आयोजन में संस्था के प्रमुख भवन के निर्माण हेतु भूमि-पूजन को सम्पन्न करने के साथ ही गीता-पाठ भी हुआ। इस आयोजन में प्रमुख रूप से काशी विद्यापीठ ब्लाक के ब्लॉक प्रमुख  प्रवेश पटेल जी, रमना के ग्राम प्रधान अमित पटेल जी, लंका थाने में एसएचओ भारत भूषण तिवारी  सहित नवसृजित संस्था श्री श्री गीता सोसाइटी के समस्त पदाधिकारीगण एवं भारी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित रहे।
आयोजन का संचालन करते हुए संस्था के कोषाध्यक्ष महेन्द्र पाण्डेय  ने संस्था के उद्देश्यों एवं कार्य क्षेत्रों को स्पष्ट करते हुए लोगों से संस्था के भौतिक सहयोग के लिए आगे आने की बात कही।
वही संस्था के उपाध्यक्ष तरुण रूपानी जी ने अपने व्यख्यान में गांवों के सामाजिक वातावरण को परिष्कृत करने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि श्री श्री गीता सोसाइटी का यही प्रमुख दायित्व है कि गीता के मार्गदर्शक सुवचनों से समाज का सम्पूर्ण रूप से परिष्कार करे।
इस सुखद एवं कल्याणकारी आयोजन में प्रमुख सहयोगी लोगों में वर्तिका अग्रवाल,नागेंद्र पटेल, वृंदा अग्रवाल,अनन्द पटेल, नर्मदा पटेल, रूपाली अग्रवाल, संतोष पटेल, रूपेश कुमार,रोशनी पाठक, एवं पवन भार्गव आदि अनेकजन रहे। कार्यक्रम का समापन कृष्ण नाम-कीर्तन के साथ हुआ।।
विज्ञापन