नारस। शहर में लगातार वीवीआईपी मूवमेंट और आगामी 21 जनवरी से शुरू होने जा रहे प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन के मद्देनज़र पूरे शहर में साफ़ सफाई युद्ध स्तर पर चल रही है। ऐसे में लगातार चल रहे शहर के प्रमुख मार्गों के डिवाइडरों पर रंग रोगन का कार्य चल रहा है।

इस कार्य के साथ साथ बनारसियों का पान का प्रेम भी लगातार इन डिवाइडर पर छलक जा रहा है। ऐसे में जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने बनारस के लोगों और पनवाड़ियों से अपील की है कि आप पान खाकर सुनिश्चित जगह पर ही थूकें और हो सके तो पान वाले ऐसा पान बनाएं जो थूकना ना पड़े।

बनारस में बढ़ रही गन्दगी के मद्देनज़र जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने सोमवार को एक आम अपील जारी की है। उन्होंने अपनी अपील में काशी की जनता से अनुरोध करते हुए कहा है कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत वाराणसी जनपद को स्वच्छ एवं साफ़ सुथरा बनाए रखना केंद्र और प्रदेश सरकार की प्रमुख योजनाओं में से एक है। अपने शहर बनारस को स्वच्छ एवं सुन्दर बनाने की हम सब की नैतिक ज़िम्मेदारी है। इसके लिए आप सबसे अपील है कि आप सब हमारा साथ दें।

उन्होंने कहा कि प्रायः ये देखने को मिलता है कि कतिपय लोग पान खाकर डिवाइडर्स, सड़क के किनारे पर एवं अन्य सार्वजानिक स्थानों पर थूक देते हैं, जिसकी वजह से गन्दगी बढती है और स्वच्छता अभियान पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इससे वाराणसी आने वाले सैलानियों को बनारस की खराब छवि प्रदर्शित होती है।

जिलाधिकारी ने जन साधारण से ये अपील की है कि कृपया आप सब पान खाकर डिवाइडर्स, सड़क के किनारे व अन्य सार्वजानिक स्थानों पर ना थूकें। इसके अलावा जिलाधिकारी ने शहर के सभी पान विक्रेताओं से यह अपील की है कि वो सब अपने दूकान पर इस आशय से सम्बंधित सूचना चिपकाने के साथ साथ ग्राहकों को इस बारे में बताएं और हो सके तो ऐसा पान लगें जिसे थूकने की आवश्यकता ही न पड़े।