नारस। काशी के हुनर को एक पहचान दिलाने के लिए प्रवासी भारतीय दिवस सम्मलेन के मद्देनज़र जिला प्रशासन द्वारा आयोजित बनारस शापिंग फेस्टिवल का औपचारिक आगाज़ मंगलवार को कमिश्नरी सभागार से होगा। इस आशय की सूचना कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने दी। उन्होंने बताया कि इस शापिंग फेस्टिवल में बनारस के एक हज़ार प्रतिष्ठानों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है। इसके अलवा यह फेस्टिवल सिर्फ प्रवासी मेहमानों के लिए नहीं बल्कि काशीवासियों और यहां आने वाले सैलानियों के लिए भी है।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह सहित आला अधिकारी सोमवार को टेंट सिटी का निरीक्षण करने पहुंचे थे |

विज्ञापन

काशी के हुनर को मिलेगी पहचान
काशी के हुनर को दुनिया के सामने रखने और उनके व्यपार को बढ़ावा देने के लिए जिला प्रशासन के द्वारा मंगलवार से एक शापिंग फेस्टिवल का औपचारिक आगाज़ होने जा रहा है। इस सम्बन्ध में कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि प्रवासी भारतीय दिवस सम्मलेन को देखते हुए हमने बनारस शापिंग फेस्टिवल की एक कार्य योजना बनाई थी। इस योजना के अंतर्गत अभी तक एक हज़ार दुकानदारों और प्रतिष्ठान ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है।

25 जनवरी तक चलेगा फेस्टिवल
कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि कल औपचारिक उद्घाटन के बाद 16 जनवरी से लेकर 25 जनवरी तक यह फेस्टिवल चलेगा। इस फेस्टिवल में 500 रूपये की खरीदारी करने पर एक कूपन दिया जाएगा। सभी एक हज़ार दुकानों पर कूपन की व्यवस्था होगी। इस कूपन का 27 जनवरी को मेगा ड्रा किया जाएगा और आकर्षक इनाम बाटें जाएँगे।

लोग करीब से जाने बनारस की कला
कमिश्नर ने बताया कि इस फेस्टिवल में पर्यटन विभाग, नगर निगम, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट और हमरा जीएसटी डिपार्टमेंट और शहर के सभी व्यपार मंडल इस फेस्टिवल में ज़िम्मेदारी के साथ प्रतिभाग कर रहे हैं। इस फेस्टिवल का मुख्य उद्देश्य है यहां की हस्तशिल्प की पकड़ मज़बूत बने और लोग इसे करीब से जाने।

उन्होंने बताया कि यह फेस्टिवल पहला है और यह अंतिम बिलकुल भी नहीं है। आने वाले समय में हम और ऐसे फेस्टिवल करवाने के बारे में सोचा रहे हैं।

विज्ञापन
Loading...
www.livevns.in का उद्देश्‍य अपनी खबरों के माध्‍यम से वाराणसी की जनता को सूचना देना, शि‍क्षि‍त करना, मनोरंजन करना और देश व समाज हित के प्रति जागरूक करना है। हम (www.livevns.in) ना तो कि‍सी राजनीति‍क शरण में कार्य करते हैं और ना ही हमारे कंटेंट के लिए कि‍सी व्‍यापारि‍क/राजनीतिक संगठन से कि‍सी भी प्रकार का फंड हमें मि‍लता है। वाराणसी जिले के कुछ युवा पत्रकारों द्वारा शुरू कि‍ये गये इस प्रोजेक्‍ट को भवि‍ष्‍य में और भी परि‍ष्‍कृत रूप देना हमारे लक्ष्‍यों में से एक है।